मुकुल वासनिक कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे, जानें इनके बारे में

मुकुल वासनिक कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे, जाने इनके बारे में

लोकसभा चुनाव में करारी मात के बाद नेतृत्व संकट से जूझ रही कांग्रेस (Congress) पार्टी को शनिवार को नया अध्यक्ष मिल सकता है। 10 अगस्त को दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमिटी (सीडब्लूसी) की बैठक होनी है। ऐसे में नए कांग्रेस अध्यक्ष के नाम को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गयी हैं। लेकिन सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के नए अध्यक्ष की दौड़ में मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) सबसे आगे चल रहे हैं और उनके नाम की चर्चा सबसे ज्यादा है। 59 वर्षीय मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) उम्र और अनुभव के लिहाज से  कांग्रेस (Congress) पार्टी के लिए मुफीद नाम भी हैं। वासनिक संगठन की बेहतर समझ रखते हैं। साथ ही उनके कामकाज की शैली सहयोगियों के साथ बहुत टकराव वाली नहीं है और युवा कांग्रेस नेताओं में भी उनकी एक पैठ है।

40 साल का लंबा अनुभव, बेदाग छवि के दलित नेता

मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) का संगठन में काम करने का 40 साल का अनुभव है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी के तमाम पदों पर सफलतापूर्वक काम किया है। इसके अलावा मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) साफ छवि के दलित नेता हैं। उन पर आज तक गुटबाजी या भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है।


मनमोहन सरकार में रह चुके हैं मंत्री

दो बार लोकसभा सांसद रह चुके मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रहे हैं। उनके पक्ष में यह बात भी है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में वह तमिलनाडु, पुडुचेरी और केरल जैसे राज्यों में पार्टी के इंचार्ज रहे जहां पार्टी ने लोकसभा में अपेक्षाकृत अच्छा प्रदर्शन किया।

कांग्रेस के छात्र और युवा संगठन के रह चुके हैं अध्यक्ष

पार्टी में युवा और पुराने दोनों नेताओं द्वारा पसंद किये जाने वाले वासनिक को गांधी परिवार का वफादार माना जाता है। वहीं महाराष्ट्र में युवाओं के बीच उनकी अच्छी पकड़ है। दिग्गज कांग्रेसी नेता और तीन बार के सांसद बालकृष्ण वासनिक के पुत्र मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI और युवा संगठन अखिल भारतीय युवा कांग्रेस (AIYC) के अध्यक्ष रह चुके हैं।


ड्राइविंग और बर्ड वॉचिंग का शौक

मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) को ड्राइविंग करना और बुक स्टॉल पर घूमना काफी पसंद है। मुकुल प्रकृति प्रेमी भी हैं और अक्सर बर्ड वॉचिंग के लिए केरल के कुमारकोम बर्ड सेंचुरी (Kumarakom Bird Sanctuary) जाना पसंद करते हैं।

अब यह शनिवार को ही साफ हो पायेगा कि मुकुल वासनिक कांग्रेस अध्यक्ष बनते हैं या नहीं। आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी में सीडब्ल्यूसी फैसले लेने वाली सबसे बड़ी इकाई है। सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह के साथ पार्टी के सभी महासचिव, राज्यों के प्रभारी और कई वरिष्ठ नेता इसके सदस्य हैं।


झारखंड: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने दिया इस्तीफा, पार्टी के नेताओं पर साधा निशाना

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)