नासकॉम का पिर्यसन के साथ एमओयू

  • Follow Newsd Hindi On  

नई दिल्ली, 23 सितम्बर (आईएएनएस)| नासकॉम फ्यूचरस्किल्स ने एक प्रमुख डिजिटल लर्निग कंपनी पियर्सन इंडिया के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है, ताकि अपने वर्तमान और भविष्य के पेशेवरों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने और आईटी-बीपीएम में कार्यरत कर्मचारियों की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार करने में मदद मिले। डिजिटलकरण के प्रसार के साथ, आईटी पेशेवरों के लिए कौशल अपरिहार्य हो जाएगा। इस समझौते से कार्यबल को कौशल करने में मदद मिलेगी।

नए जमाने की तकनीकों का चलन से डिजिटलीकरण आईटी, आईटीईएस और बीपीएम क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कौशल की कमी पैदा हो रही है। विकास के मौजूदा चलन को देखते हुए, डिजिटल रूप से कुशल पेशेवरों की मांग वित्त वर्ष 2023 में बढ़कर 23-27 लाख हो जाएगी। एक अनुमान के अनुसार, आज उद्योग में कार्यरत 45 लाख पेशेवरों में से, आने वाले चार से पांच साल में लगभग 15 से 20 लाख पेशेवरों को फिर से प्रशिक्षित करने की जरूरत होगी।


नासकॉम के आईटी-आईटीईएस सेक्टर स्किल कौंसिल के सीईओ अमित अग्रवाल ने कहा, “हम पियर्सन इंडिया के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर करने खुश हैं और यह अभी तक नैस्कॉम फ्यूचरस्किल्स के लिए एक और मील का पत्थर समझौता ज्ञापन है। यह साझेदारी हमें आईटी में भविष्य के लिए तैयार कार्यबल बनाने में मदद करेगी और देश के तकनीकी क्षेत्र में सार्थक योगदान देगी।”

पियर्सन इंडिया के प्रबंध निदेशक विकास सिंह ने कहा, “समय की यह जरूरत है कि व्यवसायों के लिए ऐसे कार्यबल को तैयार किया जाए, जो नए और उभरते विषयों में कुशल हों, जिससे वे मौजूदा व्यवसाय की रक्षा करने में सक्षम होने के साथ-साथ इसे और भी विस्तारित करने में सक्षम हो सकेंगे।”

 


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)