National Girl Child Day 2020: पूर्व PM इंदिरा गांधी से जुड़ा है राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानें इतिहास, उद्देश्य और महत्व

National Girl Child Day 2020: पूर्व PM इंदिरा गांधी से जुड़ा है राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानें इतिहास, उद्देश्य और महत्व

National Girl Child Day 2020: देश में 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) मनाया जाता है। राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने की शुरुआत 2009 से की गई। सरकार ने इसके लिए 24 जनवरी का दिन चुना क्योंकि यही वह दिन था जब 1966 में इंदिरा गांधी ने भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी। इस अवसर पर सरकार की और से कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। समाज में बालिकाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक बनाने के लिए अनेकों आयोजन होते हैं।

National Girl Child Day: महत्‍व

राष्‍ट्रीय स्‍तर पर लड़कियों के विकास को एक अभियान के रूप में मानकर भारत सरकार ने नेशनल गर्ल चाइल्‍ड डे की शुरुआत की है। इस अभियान का मकसद देश भर में लोगों को लड़कियों के प्रति जागरुक करना है। साथ ही लोगों को यह बताना है कि समाज निर्माण में महिलाओं का बराबर का योगदान है। इस अभियान के तहत माता-पिता के साथ ही समाज के तमाम तबकों के लोगों को शामिल कर उन्‍हें इस बात के लिए जागरूक किया जाता है कि लड़कियों के पास भी फैसले लेने का अधिकार होना चाहिए।


National Girl Child Day: उद्देश्य

राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाए जाने के मुख्य रूप से 3 उद्देश्य हैं।

  • बालिकाओं के अधिकारों के प्रति जागरुकता बढ़ाना।
  • विभिन्न अत्याचार और जिन असमानताओं का बालिकाएं सामना करती हैं उनके बारे में मंच पर बात करना।
  • लड़कियों के शिक्षा और स्वास्थ्य का महत्व समझाने और इसे बढ़ावा देने के लिए।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)