नौसेना ने बनाई कोरोना वायरस की जांच के लिए इंफ्रारेड सेंसर गन, कीमत 1 हजार रुपये से भी कम

नौसेना ने बनाई कोरोना वायरस की जांच के लिए इंफ्रारेड सेंसर गन, कीमत 1 हजार रुपये से भी कम

भारत में लगातार कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ते जा रहे हैं और कोरोना के मरीजों के जांच के लिए अभी तक कोई सस्ती जांच किट नहीं बनाई गई है। लेकिन नौसेना ये कमाल कर दिखाया। सेना ने अपने जवानों की कोरोना जांच के लिए सस्ती इंफ्रारेड (Infrared) सेंसर गन बनाई है।

यह गन नौसेना के मुम्बई स्थिति डॉकयार्ड (Dockyard) ने डिजाइन की है। डॉकयार्ड ने इसे अपने प्रवेश द्वारों नौसेनाकर्मियों की स्क्रीनिंग के लिए बनाया है, ताकि सुरक्षा जांच गतिविधियों पर बोझ कम किया जा सके। डॉकयार्ड अपने खुद के उपलब्ध संसाधनों से विकसित इस गन की कीमत 1000 रुपये से भी कम है, जो कि बाजार में मिल रही ऐसी अन्य गनों की कीमत से बहुत ही कम है।


कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलाव के मद्देनजर, इन कर्मियों की डॉकयार्ड में प्रवेश करने के समय प्रारम्भिक जाँच जरूरी हो गयी है। सम्भावित रोगी की बिना सम्पर्क के प्रारम्भिक स्क्रीनिंग करने के लिए उसके शरीर के तापमान की जाँच करना सबसे बेहतर तरीका है।

मुम्बई के नौसेनिक डॉकयार्ड (Dockyard) ने 0.02 डिग्री सेल्सियस तक के शारीरिक तापमान को नापने के लिए ये गन बनाई है। कोरोना (Coronavirus) की जांच के लिए इस गन में इन्फ्रारेड (Infrared) सेंसर और एक एलईडी डिस्प्ले लगी हुई यह गन एक तरह का थर्मामीटर है। यह गन बिना शारीरिक सम्पर्क में आये किसी के भी शरीर के तापमान की जांच कर लेती है। यह गन 9 वोल्टेज की क्षमता वाली बैटरी से चलती है।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)