UP: मंत्रिमंडल विस्तार के बाद योगी आदित्यनाथ की नसीहत, नए मंत्री ट्रांसफर गेम से दूर रहें

UP: 'बच्चा चोरी' की अफवाह फैलाने और हमला करने वालों पर सरकार सख्त, लगेगी रासुका

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिमंडल नें शामिल किए गए नए मंत्रियों से कहा है कि वे ट्रांसफर और पोस्टिंग के मामलों से दूर रहें। बुधवार देर रात नए और पुराने सभी मंत्रियों को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, “भ्रष्टाचार पर हमारी नीति जीरो टॉलरेंस की है और यदि कोई इसमें लिप्त पाया गया, तो हम कार्रवाई करने में संकोच नहीं करेंगे।”

लोकसभा और राज्यसभा के नए सदस्यों के कार्याभार संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को ही दोहराते हुए योगी ने कहा, “आप को इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपके परिजन आपके मंत्रालय के कामों में हस्तक्षेप न करें। आपकी जीवनशैली साधारण रहे और लोगों के प्रति आपकी संवेदनशीलता तथा जवाबदेही होनी चाहिए।”


उन्होंने आगे कहा कि मंत्रियों को अपने निजी कर्मचारियों पर नजर रखनी चाहिए क्योंकि उनकी भ्रष्टाचार में लिप्त होने की आशंका बनी रहती हैं। उन्होंने कहा कि मंत्रीगण विभिन्न जिले की यात्राओं के दौरान होटल की बजाए सरकारी गेस्ट हाउस में रुकें।

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि वे ‘जन सुनवाई’ पोर्टल व मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर पोस्ट की जा रही शिकायतों की समीक्षा करें और इसके साथ ही यह सुनिश्चित करें कि उनके विभागों से संबंधित शिकायतों का निवारण हो। उन्होंने उन मंत्रियों का उदाहरण दिया, जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था और बुधवार के हुए फेरबदल में उनकी पदोन्नति हुई।

योगी ने कहा, “महेंद्र सिंह ने सराहनीय काम किया। उनके नेतृत्व में ग्रामीण विकास विभाग ने 12 राष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं। उन्होंने पीएम आवास योजना और मनरेगा के तहत रिकॉर्ड रोजगार प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।”



UP: योगी सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार, 1 दर्जन से अधिक नए चेहरे शामिल, देखें पूरी लिस्ट

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)