पाकिस्तान: हाफिज सईद समेत जमात-उल-दावा के 12 नेताओं पर टेरर फंडिंग का मामला दर्ज

पाकिस्तान: मुंबई हमले का मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद लाहौर से गिरफ्तार

लाहौर। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अमेरिका दौरे से चंद दिनों पहले प्रतिबंधित संगठन जमात-उल-दावा (जेयूडी) प्रमुख और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद समेत संगठन के 12 अन्य नेताओं के खिलाफ आतंकवाद को धन मुहैया कराने और धन शोधन के लगभग दो दर्जन मामले दर्ज किए गए हैं।

द डॉन की गुरुवार की रिपोर्ट के अनुसार, आतंकवाद रोधी अधिनियम 1997 के अंतर्गत पंजाब के पांच शहरों में मामले दर्ज करने वाले अपराध निरोधक विभाग (सीटीडी) ने घोषणा की कि जेयूडी अल-अनफाल ट्रस्ट, दावातुल इरशाद ट्रस्ट और मुआज बिन जबल ट्रस्ट जैसे गैर-लाभकारी संगठनों की मदद से आतंकवाद का वित्त-पोषण कर रहा था।


इन गैर-लाभकारी संगठनों पर अप्रैल में प्रतिबंध लगा दिया गया था, क्योंकि सीटीडी ने अपनी जांच में पाया था कि उनका संबंध जेयूडी और उसके शीर्ष नेतृत्व से है और उन पर पाकिस्तान में इकट्ठे किए गए धन से बड़ी संपत्ति बना आतंकवाद को वित्तीय सहायता प्रदान करने का आरोप लगाया था।

ये भी पढ़ें: जानें गरीब पाकिस्तान के अमीर प्रधानमंत्री इमरान खान के पास कितनी दौलत है!

लाहौर, गुजरांवाला, मुल्तान, फैसलाबाद और सारगोढ़ा में सीटीडी के पुलिस स्टेशनों में जेयूडी के नेताओं के खिलाफ सोमवार और मंगलवार को 23 प्राथमिकी दर्ज की गईं।


सईद के अलावा उसके रिश्तेदार नैब अमीर अब्दुल रहमान मक्की, मलिक जफर इकबाल, अमीर हमजा, मोहम्मद याह्या अजीज, मोहम्मद नईम, मोहसिन बिलाल, अब्दुल रकीब, अहमद दाऊद, मोहम्मद अयूब, अब्दुल्ला उबैद, मोहम्मद अली और अब्दुल गफ्फार पर भी मामले दर्ज किए गए हैं।

यह कदम इमरात की 20 जुलाई से पांच दिवसीय अमेरिका यात्रा से पहले उठाया गया है। दौरे पर इमरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से वार्ता करेंगे।

पंजाब में सीटीडी के प्रवक्ता ने कहा, “पिछले दो दिनों में प्राथमिकियां दर्ज होने के बाद आतंकवाद का वित्तपोषण करने के लिए जेयूडी के शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ व्यापक स्तर पर औपचारिक जांच शुरू कर दी गई है।”

उन्होंने कहा कि राज्य ने इन लोगों के खिलाफ पर्याप्त और दंडात्मक कार्रवाई कर इन संगठनों को पूरी तरह निष्क्रिय कर दिया है।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)