पाकिस्तानी कलाकारों के लिए भारतीय फिल्म उद्योग में दरवाजे बन्द

पाकिस्तानी कलाकारों के लिए भारतीय फिल्म उद्योग में दरवाजे बन्द

मुंबई | ‘ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन’ (एआईसीडब्ल्यूए) ने सोमवार को देश में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाते हुए कहा कि वे पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम करने वाले हर व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। यह घोषणा जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकवादी हमले में 49 जवानों के शहीद होने के बाद की गई है।

एआईसीडब्ल्यूए के महासचिव रोनक सुरेश जैन के हस्ताक्षर वाली एक अधिसूचना में लिखा है, “एआईसीडब्ल्यूए जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा में हमारे बहादुर जवानों पर हुए आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करता है। हमले में शहीद हुए जवानों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना है। ऐसी आतंकवादी और अमानवीय घटना का सामना करने में एआईसीडब्ल्यूए देश के साथ खड़ा है।”


अधिसूचना में आगे लिखा है, “हम हमारे फिल्म उद्योग में काम करने वाले पाकिस्तानी कलाकारों और अन्य कर्मियों पर पूर्ण प्रतिबंध की आधिकारिक घोषणा करते हैं। इसके बावजूद अगर कोई संस्था पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम करने की जिद करती है तो उस पर एआईसीडब्ल्यूए प्रतिबंध लगा देगा और उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। देश पहले आता है, हम देश के साथ खड़े हैं।”

यह घोषणा ‘फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉईज’ (एफडब्ल्यूआईसीई) के उस बयान के बाद की गई है जिसमें भारतीय फिल्म निर्माताओं को पाकिस्तानी कलाकारों के साथ काम नहीं करने और पाकिस्तान में भारतीय फिल्म रिलीज नहीं करने की बात सामने के बाद की गई है।

‘टोटल धमाल’ की टीम पहले ही कह चुकी है कि यह फिल्म वहां रिलीज नहीं की जाएगी।



पुलवामा शहीदों के परिवारों की इस तरह मदद करेगा SBI

पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ढेर : पुलिस

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)