पंत की तुलना धोनी से न करें : एडम गिलक्रिस्ट

नई दिल्ली, 5 नवंबर (आईएएनएस)| आस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने भारतीय प्रशंसकों और मीडिया को सलाह देते हुए कहा है कि वह युवा ऋषभ पंत की तुलना दिग्गज महेंद्र सिंह धोनी से न करें। गिलक्रिस्ट ने पंत को भी सलाह देते हुए कहा है कि वह धोनी से जितना सीख सकते हैं, सीखें लेकिन उनके जैसा बनने की कोशिश न करें। पंत को धोनी के उत्तराधिकारी के रूप में देखा जा रहा है, लेकिन हालिया दौर में वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके हैं। वह जब भी विफल होते हैं, उनकी तुलना सीधे धोनी से की जाती है।

गिलक्रिस्ट इस समय भारत में हैं। वह वेस्टर्न आस्ट्रेलिया के पर्यटन को बढ़ावा की मुहिम के तहत भारत आए हैं। अगले साल आस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप खेला जाना है और वेस्टर्न आस्ट्रेलिया के ही शहर पर्थ के ओप्टस स्टेडियम में भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच खेलना है। गिलक्रिस्ट वेस्टर्न आस्ट्रेलिया के प्रीमियर मार्क मैक्गोवन के साथ अपने क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारत में हैं।


गिलक्रिस्ट ने मंगलवार को कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं द्वारा पंत के ऊपर पूछे गए सवाल पर कहा, “भारतीय प्रशंसकों और पत्रकारों को मेरी नंबर-1 सलाह है कि वह पंत और धोनी की तुलना नहीं करें। धोनी शानदार हैं उनके जैसा कोई नहीं है। मेरा निजी अनुभव है। मैं जब टीम में आया था तब इयन हिली आस्ट्रेलिया के दिग्गज कीपर हुआ करते थे। उनके बाद में आया। मैंने हिली से सीखने की कोशिश की लेकिन उनके जैसा बनने की नहीं। मैं पंत से यही कहूंगा कि धोनी से जितना सीख सकते हो सीखो, लेकिन धोनी जैसा बनने की कोशिश नहीं करो, बल्कि पंत बनो।”

आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने सबसे पहले अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दिन-रात टेस्ट मैच खेला था। भारत ने इसके लिए शुरुआती दौर में रजामंदी नहीं दी थी, लेकिन पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली के भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का अध्यक्ष बनने के बाद भारत ने इस ओर कदम बढ़ाया और अब 22 से 26 नवंबर के बीच भारत कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला दिन-रात प्रारूप का टेस्ट मैच खेलेगी।

गिलक्रिस्ट को उम्मीद है कि भारत अपने अगले आस्ट्रेलिया दौरे पर दिन-रात टेस्ट मैच भी खेलेगी।


दिन-रात प्रारूप पर पूर्व विकेटकीपर ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि भारत अपने अगले आस्ट्रेलिया दौरे पर दिन-रात टेस्ट मैच होगा। मैं दिन-रात को पहले ज्यादा पसंद नहीं करता था, लेकिन अब मैं इसके सकारात्मक प्रभाव देखता हूं जो टेस्ट क्रिकेट को फायदा पहुंचाएंगे। इस दौर के खिलाड़ियों ने इसे पसंद किया है।

टेस्ट चैम्पियनशिप पर बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “टेस्ट चैम्पियनशिप के लाने से पता चलता है कि आईसीसी की कोशिश है कि हर टेस्ट मैच की अहमियत हो। टीम अगर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-2 से पीछे भी है तो टेस्ट चैम्पियनशिप में मिलने वाले अंकों के हिसाब से वह तीसरे टेस्ट मैच को हल्के में नहीं लेगी और जीतने की कोशिश करेगी। इस चक्र को देखना बेहद रोचक होगा। खिलाड़ियों को यह पसंद भी आ रहा है। हां यह इसकी गांरटी नहीं दे सकती कि इससे मैदान पर दर्शक आएंगे। टेस्ट की अपनी अलग दर्शक श्रेणी है।”

बीसीसीआई अपनी घरेलू टी-20 लीग इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में ‘पावर प्लेयर’ का नियम लाने पर बात कर रहा है। इस नियम के मुताबिक टीम मैच में कभी भी ओवर खत्म होने के बाद या विकेट गिरने के बाद खिलाड़ी को बदल सकती हैं। इस नियम के तहत टीमों को 11 खिलाड़ियों की घोषणा नहीं करनी होगी, बल्कि 15 खिलाड़ियों के नाम चुनने होंगे।

इस नियम पर गिलक्रिस्ट ने कहा कि टी-20 प्रयोग के लिए सही मंच है। उन्होंने कहा, ” किसी भी नियम को लागू करने से पहले हम एक क्रिकेट बॉडी के तौर पर यह समझते हैं कि यह काम करेगा या नहीं करेगा। आईपीएल बड़ा टूर्नामेंट है, लेकिन टी-20 क्रिकेट प्रयोग करने के हिसाब से अच्छा प्लेटफॉर्म है और अगर यह काम नहीं करता है तो हम इसे वापस ले सकते हैं। इसमें प्रयोग करने में हर्ज नहीं है।”

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like