पंजाब: कैप्टन अमरिंदर ने कतरे सिद्धू के पर, छीना स्थानीय निकाय विभाग

पंजाब: कैप्टन अमरिंदर ने कतरे सिद्धू के पर, छीना स्थानीय निकाय विभाग

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच टकराव जारी है। कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने गुरुवार को अपने कैबिनेट सहयोगी नवजोत सिंह सिद्धू का कद कम करते हुए उन्हें स्थानीय निकाय विभाग से हटा दिया है। क्रिकेट से राजनीति और बीजेपी से कांग्रेस में आए नवजोत सिंह सिद्धू के कैबिनेट की बैठक में न जाने के बाद कैप्टन ने यह फैसला किया है। कैप्टन ने पंजाब के गवर्नर वीपी सिंह बदनोर को सिद्धू समेत छह मंत्रियों के विभाग बदलने के लिए पत्र लिखा है।

कैप्टन अमरिंदर ने इस विभाग को अभी अपने पास ही रखने का फैसला किया है। हालांकि, सिद्धू के पास पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय का प्रभार है। वह कैबिनेट मंत्री भी बने रहेंगे। लेकिन, अमरिंदर सिंह की तरफ से स्थानीय विभाग छीनना सिद्धू के लिए एक कड़ा संदेश है।


मुख्यमंत्री की तरफ से राज्यपाल को सिद्धू से स्थानीय निकाय विभाग से हटाने की अनुशंसा करने के कुछ देर बाद सिद्धू ने मीडिया से कहा- “मैं पूरा सच बोल रहा हूं, सीएम आधा सच बोल रहे हैं। मेरा प्रदर्शन हमेशा से अच्छा है। हर प्रोफेशन में मैंने अच्छा काम किया। मेरे विभाग को क्यों निशाना बनाया गया?मुझे हल्के में नहीं लिया जा सकता है… मैं पंजाब के लोगों के प्रति जवाबदेह हूं।”

कैबिनेट बैठक में नहीं पहुंचे सिद्धू

लोकसभा चुनाव के बाद गुरुवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंद सिंह द्वारा बुलाई गई पहली कैबिनेट मीटिंग में स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू नहीं पहुंचे। ऐसा दूसरी बार है जब कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में आधिकारिक बैठक के दौरान स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू न पहुंचे हों। सिद्धू का विभाग बदलने को लेकर भी खूब अटकलें लगाई जा रही थी।

इससे पहले, सोमवार को स्थानीय निकाय मंत्री की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने कहा था कि पंजाब कांग्रेस विधायक, कैबिनट मंत्री और नए चुने गए सांसदों की 30 मई को रखी गई बैठक में उनके पति को नहीं बुलाया गया था, इसलिए वे वहां पर नहीं गए।


अमरिंदर के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने कहा कि मुख्यमंत्री के कार्यालय (सीएमओ) की तरफ से सभी मंत्रियों और विधायकों को बैठक में आमंत्रित किया गया था। हालांकि, सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने ऐसे किसी बुलावे से इनकार किया। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तान पर सिद्धू के बयान और स्थानीय निकाय विभाग को ठीक से हैंडल न कर पाने को शहरी इलाकों में पार्टी के खराब प्रदर्शन की वजह बताते हुए मंत्रियों के विभाग में बंटवारे की घोषणा की थी।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)