राहुल द्रविड़ के नक्शेकदम पर बेटा समित द्रविड़, दो महीने के अंदर जड़ा दूसरा दोहरा शतक

राहुल द्रविड़ के नक्शेकदम पर बेटा समित द्रविड़, दो महीने के अंदर जड़ा दूसरा दोहरा शतक

भारतीय क्रिकेट टीम की दीवार कहे जाने वाले पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के बेटा भी अपने पिता के नक्शेकदम पर चल रहा है। छोटी सी उम्र में ही समित द्रविड़ स्कूल क्रिकेट में रनों का अंबार लगा रहे हैं। समित ने एक बार फिर स्कूल क्रिकेट में दोहरा शतक बना दिया है। अंडर 14 ग्रुप वनडे टूर्नामेंट में माल्या अदिति इंटरनेशनल स्कूल की तरफ से खेलते हुए उन्होंने यह कारनामा किया। कुछ समय पहले ही उन्होंने एक और दोहरा शतक जमाया था।

महज 14 साल के समित द्रविड़ ने अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से सभी का दिल जीत लिया है। सोमवार को उन्होंने दो महीने के अंदर-अंदर दूसरा दोहरा शतक ठोका है। समित द्रविड़ इस समय U-14 BTR Shield मैच अपनी टीम माल्या अदिति इंटरनेशनल स्कूल के लिए खेल रहे हैं। Sri Kumaran की टीम के खिलाफ उन्होंने वनडे क्रिकेट का दूसरा शतक ठोका है।


राहुल द्रविड़ के नक्शेकदम पर बेटा समित द्रविड़, दो महीने के अंदर जड़ा दूसरा दोहरा शतक

समित द्रविड़ ने इस मैच में 33 चौके की मदद से 204 रन की शानदार पारी खेली, जिसकी मदद से उनकी टीम माल्या अदिति इंटरनेशनल स्कूल ने 3 विकेट खोकर 377 रन का स्कोर खड़ा किया। इतना ही नहीं, समित द्रविड़ ने गेंदबाजी में भी हाथ आजमाया और 2 विकेट अपने नाम किए। इसी के दम पर टीम को 267 रन से जीत मिली। 378 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए Sri Kumaran की टीम 110 रन पर ढेर हो गई।

राहुल द्रविड़ के नक्शेकदम पर बेटा समित द्रविड़, दो महीने के अंदर जड़ा दूसरा दोहरा शतक


पिछले करीब दो महीने में समित द्रविड़ ने 5 मैच अपनी टीम के लिए खेले हैं, जिसमें 681 रन उन्होंने बनाए हैं। इस दौरान समित द्रविड़ के बेटे के बल्ले से दो दोहरे शतक, 1 शतक और एक अर्धशतक निकला है। इतना ही नहीं, 227 के औसत से रन बनाने वाले समित द्रविड़ ने गेंदबाजी करते हुए 7 विकेट भी अपने नाम किए हैं। वहीं, अगर पहले दोहरे शतक की बात करें तो उन्होंने 144 गेंदों में 211 रन बनाए, जबकि दूसरा दोहरा शतक समित ने 146 गेंदों में बनाया।

युवा खिलाड़ियों को तैयार कर रहे द्रविड़

गौरतलब है कि संन्यास लेने के बाद खुद राहुल द्रविड़ भी लगातार युवा खिलाड़ियों के साथ काम करते रहे हैं। वह पहले इंडिया ए और भारतीय अंडर-19 टीम के कोच थे। पिछले साल जुलाई में उन्होंने एनसीए के प्रमुख की जिम्मेदारी उठाई थी। उनके कोच रहते भारतीय टीम ने अंडर-19 विश्व कप 2016 के फाइनल में जगह बनाया था। भारत ने उनके कोच रहते ही अंडर-19 विश्व कप 2018 को अपने नाम किया था। कई युवा खिलाड़ी अपने अच्छे प्रदर्शन का श्रेय राहुल द्रविड़ को दे चुके हैं। ऐसे में समित को पिता राहुल द्रविड़ से अच्छा कोच नहीं मिल सकता।


राहुल द्रविड़ को BCCI ने सौंपी बड़ी जिम्मेदारी, करेंगे ये काम

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)