72 हजार सालाना देकर गरीबों को ‘न्याय’ दिलाएंगे राहुल गांधी, प्रियंका ने सुझाया था नाम

72 हजार सालाना देकर गरीबों को ‘न्याय’ दिलाएंगे राहुल गांधी, प्रियंका ने सुझाया था नाम

लोकसभा चुनाव पर जारी घमासान से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बड़ा चुनावी वादा किया है। चुनावी जंग में बढ़त बनाने के लिए राहुल गांधी ने दुनिया की सबसे बड़ी न्यूनतम आय गारंटी योजना का वादा किया और कहा कि अगर उनकी सरकार सत्ता में आती है तो गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपये मिलेंगे। राहुल गांधी ने कहा कि पिछले पांच साल के मोदी सरकार में गरीब और गरीब हुए हैं, अब हम उन्हें न्याय देंगे। राहुल ने कहा कि हमने मनरेगा को लागू किया था और अब आय गारंटी को लागू कर दिखा देंगे। हम गरीबी मिटा देंगे। गांधी ने कहा कि काम करने वाले किसी की भी न्यूनतम आय 12 हजार रुपये होने ही चाहिए।

 दुनिया की सबसे बड़ी योजना

लोकसभा चुनाव से पहले सोमवार को बड़ा ऐलान करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर देश के हर गरीब परिवार को सालाना 72 हजार रुपये दिए जायंगे। कांग्रेस की कार्य समिति की बैठक के बाद राहुल गांधी ने संवाददाताओं से कहा, ” पिछले 5 वर्षों में देश की जनता को बहुत मुश्किलें सहनी पड़ी हैं। हमने निर्णय लिया और हम भारत के लोगों को न्याय देने जा रहे हैं। यह न्याय न्यूनतम आय गारंटी है। ऐसी योजना दुनिया में कहीं नहीं है।


राहुल गांधी ने कहा कि कहा, ” हम 12 हजार रुपये महीने की आय वाले परिवारों को न्यूनतम आय गारंटी देंगे। कांग्रेस गारंटी देती है कि वह देश में 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों(25 करोड़ लोगों) में से प्रत्येक को हर साल 72 हजार रुपये देगी। यह पैसा सीधे उनके बैंक खाते में जाएगा।”


राहुल ने कहा कि भारत में अगर न्यूनतम से भी कम आमदनी है तो यह आय बढ़ाने की कोशिश होगी। यह वह कोशिश है जिससे गरीबी से निकाला जा सकता है। यह सेकेंड फेज में 25 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाल देगी। इस योजना को हम आगे लाकर दिखाएंगे। इस देश का झंडा एक है और प्रधानमंत्री की राजनीति में दो हिंदुस्तानी झंडा है… एक अनिल अंबानी का झंडा और दूसरा गरीबी के लिए। 21वीं सदी के भारत से गरीबी को हटाना है। यह गरीबी पर आखिरी निर्णायक हमला होगा। हम दो हिंदुस्तान नहीं बनने देंगे, यह अमीरों और गरीबों दोनों का ही देश होगा।

क्या है न्यूनतम आमदनी गारंटी योजना

इस योजना में प्रावधान है कि हर नागरिक को सरकार हर महीने एक निश्चित रकम देगी। यह रकम कितनी हो यह गरीबी रेखा के मानक से तय किया जा सकता है। राहुल गांधी ने जिस न्यूनतम आमदनी गारंटी योजना का जिक्र किया है, उसमें लोगों को सरकार न्यूनतम आय गारंटी के रूप में देगी। इसके तहत सरकार एक निश्चित रकम तय करेगी और फिर एक मानक स्थापित कर इसका वितरण होगा।

प्रियंका गांधी ने किया है नामकरण

कांग्रेस पार्टी ने आम चुनाव 2019 में अपनी इस महत्वाकांक्षी योजना का नामकरण भी कर दिया है। इस योजना का नाम “न्याय (न्यूनतम आय योजना)” रखा गया है। यह नाम कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सुझाया है।

गौरतलब है कि गुजरात के अहमदाबाद में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में यह नाम प्रियंका गांधी ने सुझाया था। आम चुनाव में इस योजना को लेकर कांग्रेस पार्टी चुनाव मैदान में उतरी है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)