Reliance Jio AGM: रिलायंस की AGM बैठक में 5G नेटवर्क, Jio Glass और गूगल के निवेश समेत हुए ये बड़े ऐलान

Reliance Jio AGM: रिलायंस की AGM बैठक में 5G नेटवर्क, Jio Glass और गूगल के निवेश समेत हुए ये बड़े ऐलान

रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries )की आज 43वीं ऐनुअल जनरल मीटिंग (43rd AGM) हुई। कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए इस बार की मीटिंग वर्चुअल रही। कंपनी के चेयरमैन के साथ ही दूसरे अधिकारियों ने भी इस मीटिंग में JioMeet विडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप के जरिए हिस्सा लिया। मीटिंग को संबोधित करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बताया कि गूगल 33 हजार 737 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। इस निवेश के जरिए जियो में गूगल की 7.7 फीसदी हिस्सेदारी होगी। यही नहीं, गूगल के साथ स्ट्रेटजिक पार्टनरशिप की घोषणा भी की गई। तो आइए जानते हैं आज की मीटिंग में कंपनी ने क्या खास ऐलान किए।

जियो का देसी 5G नेटवर्क

जियो ने आज की मीटिंग में अपना 5G नेटवर्क लाने की भी घोषणा की। कंपनी ने कहा कि वह देश में विश्व स्तरीय 5G सर्विस ऑफर करने के लिए तैयार है। इसके लिए कंपनी 100 प्रतिशत भारतीय टेक्नॉलजी का इस्तेमाल करेगी। कंपनी ने बताया कि इस 5G सर्विस का फील्ड डिप्लॉयमेंट अगले साल से शुरू होने की उम्मीद है। सर्विस का ट्रायल स्पेक्ट्रम मिलने के तुरंत बाद शुरू हो जाएगा। साथ ही रिलायंस जियो एंट्री लेवल 5जी स्मार्टफोन लेकर आएगी। इसके अलावा गूगल के साथ मिलकर रिलायंस एक एंड्रॉयड बेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम तैयार करेगी। इसका मकसद हर भारतीय के हाथ में सस्ता स्मार्टफोन देना है।


जियो टीवी+ से बदलेगा मनोरंजन का अंदाज

कंपनी ने आज की मीटिंग में ही जियो टीवी प्लस की भी घोषणा की। इस सर्विस के जरिए कंपनी यूजर्स के टीवी देखने का अंदाज बदलने वाली है। यह खास टेक्नॉलजी पर काम करता है। इसमें दिए गए जियो रिमोट से आप आसानी से अपना मनपसंद कॉन्टेंट सर्च कर देख सकते हैं। जियो टीवी में हर विधा के प्रोग्राम मिलेंगे और इन्हें वॉइस कमांड के जरिये भी सर्च किया जा सकता है।

Jio Glass से शानदार होगी वीडियो कॉलिंग

कंपनी ने आज एक खास जियो ग्लास (Jio Glass) को भी पेश किया। यह एक चश्मा है, जिसे किसी फोन से जोड़कर इंटरनेट चलाया जा सकता है। 75 ग्राम का यह ग्लास हाई रेजॉलूशन डिस्प्ले के साथ आता है। यह एक केबल से जुड़ा होगा। यह सभी ऑडियो फॉर्मैट को सपॉर्ट करता है और इसमें शानदार साउंड क्वॉलिटी मिलती है और वह भी बिना किसी एक्सटर्नल गैजेट को लिंक किए। यह वीडियो कॉल के अंदाज को भी बदलेगा और 2D वर्चुअल कॉलिंग से आपको ऐसा लगेगा कि आप किसी से आमने आमने बात कर रहे हैं।

जियो मीट ऐप से बेहतर होगी सर्विस

इसके अलावा कंपनी ने हाल में लॉन्च हुए अपने विडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप JioMeet के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। कंपनी ने बताया कि कैसे जियो मीट ऐप देश के एजुकेशन सिस्टम को बदलने का दम रखता है। यह स्टेट ऑफ द आर्ट प्लैटफॉर्म के जरिए वर्ल्ड क्लास पढ़ाई का ऑप्शन देता है। जियो मीट ऐप का हेल्थ केयर में भी काफी तेजी से इस्तेमाल होगा। यह जियो के विश्वशनीय 4G नेटवर्क के जरिए हाई क्वॉलिटी विडियो कॉल्स की सुविधा देता है। इसकी मदद से यूजर डॉक्टर से बात कर सकते हैं, प्रिस्क्रिप्शन ले सकते हैं।


गौरतलब है कि कंपनी ने आज की मीटिंग में जियो को देश का नंबर 1 और दुनिया का नंबर 2 सेवा प्रदाता बताया। मुकेश अंबानी ने कहा कि कोविड-19 और लॉकडाउन के बीच जियो यूजर्स की लाइफलाइन बनकर उभरा है। जियो की डिजिटल कनेक्टिविटी अब लाखों घरों तक पहुंच चुकी है। कंपनी मोबाइल ब्रॉडबैंड, जियो फाइबर होम, इंटरप्राइज ब्रॉडबैंड, ब्रॉडबैंड फॉर एसएमई और NB-IOT के जरिए यूजर्स को बेस्ट कनेक्टिविटी ऑफर कर रही है।


रिलायंस Jio में गूगल 33,737 करोड़ रुपये का करेगा निवेश, Jio-Google भारत को मिलकर बनाएंगे 2G मुक्त

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)