रोमानिया से पर्यटक बनकर आए दिल्ली, फर्जीवाड़ा कर खातों से उड़ाने लगे पैसा

रोमानिया से पर्यटक बनकर आए दिल्ली, फर्जीवाड़ा कर खातों से उड़ाने लगे पैसा

दिल्ली पुलिस ने ATM कार्ड की क्लोनिंग कर लोगों के खातों से रुपये निकालने वाले रोमानिया के पांच नागरिकों को गुरुवार और शनिवार को कालकाजी से गिरफ्तार किया है। आरोपियों में दो महिलाएं भी शामिल हैं, जिनका काम ATM बूथ में स्किमर और कैमरा लगाना था। डीसीपी नुपूर प्रसाद ने बताया कि गुरुवार को एक युवक ने सदर बाजार स्थित IDBI बैंक के ATM बूथ में स्कीमर लगा देखा। उसने इसकी सूचना तत्काल बैंक अधिकारियों को दी। इसके बाद मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी गई। सदर बाजार पुलिस ने धोखाधड़ी और अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर ATM बूथ में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली।

इस दौरान एक फुटेज में दो विदेशी युवतियां दिखीं, जो स्किमर और कैमरा लगा रही थीं। दोनों ने अपने चेहरे ढक रखे थे। इसके बाद मुखबिरों की सूचना पर पुलिस ने गुरुवार को आरोपी महिलाओं इरिना और एलिसाबेटा को उस समय दबोच लिया, जब वह दोबारा उसी एटीएम में आईं। इनकी निशानदेही पर पुलिस ने शनिवार को उनके साथी कोस्टाशे इन्ना, लेवतरु लोन और निस्टर लिए को भी गिरफ्तार कर लिया।


पर्यटक-मेडिकल वीजा पर आए थे दिल्ली

जांच में सामने आया कि पांचों आरोपी करीब एक माह पहले ही रोमानिया से दिल्ली आए थे। इसमें से कुछ पर्यटक और बाकी मेडिकल वीजा पर दिल्ली आए थे। ये सभी कालकाजी इलाके में किराए के मकान में रह रहे थे।

खुलासा: गूगल से सीखा जालसाजी का तरीका


आरोपी रोमानिया के नागरिकों ने जालसाजी का तरीका गूगल से सीखा था। गिरफ्तार आरोपियों से की गई पुलिस पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है। पुलिस ने सोमवार को उन्हें अदालत में पेश किया। अदालत ने पांचों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है।

सूत्रों का कहना है कि आरोपियों को गूगल से जानकारी मिली कि विश्व में सर्वाधिक ATM भारत में हैं। इसके बाद उन्होंनों दिल्ली के सदर बाजार, चांदनी चौक, जामा मस्जिद, मालवीय नगर व हौजखास को वारदात के लिए चुना था। इसके बाद आरोपियों ने दिल्ली के कुछ स्थानों पर लगे ATM को ही स्किमर व कैमरा लगाने के लिए चुना। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि भारत में विदेशी पर्यटकों की बेहद इज्जत होती है, इसलिए किसी को शक भी नहीं होता और वे आसानी से धोखाधड़ी कर लेते। पुलिस फिलहाल आरोपियों के फरार साथियों की तलाश कर रही है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)