सचिन पायलट के ट्विटर अकाउंट पर जमकर बरसे रीट्वीट और लाइक, एक दिन में बढ़े 1 लाख से ज्यादा फॉलोअर

  • Follow Newsd Hindi On  
Court's decision will decide pilot's fate in Rajasthan politics

राजस्थान में उपजे सियासी संकट (Rajasthan Political Crisis) के बीच मंगलवार को कांग्रेस ने सचिन पायलट (Sachin Pilot) को उपमुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया। पार्टी की इस कार्रवाई और राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए सचिन पायलट ने कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है, लेकिन पराजित नहीं।

कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने ट्वीट किया, ‘सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं।’ इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्विटर प्रोफाइल के बायो से राजस्थान के उप मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हटा दिया। अब उनके प्रोफाइल में उनके विधायक (टोंक) और पूर्व केंद्रीय मंत्री होने तथा कांग्रेस के वेबसाइट लिंक का उल्लेख है।



सचिन पायलट का यह ट्वीट खूब वायरल हुआ और इसे 65 हजार से ज्यादा बार रीट्वीट और 3 लाख से ज्यादा बार लाइक किया गया। यह सचिन पायलट के ट्विटर इतिहास का सबसे ज्यादा रीट्वीट और लाइक मिलने वाला ट्वीट बन गया। इतना ही नहीं, एक दिन में सचिन पायलट के ट्विटर पर 1 लाख से ज्यादा फॉलोअर बढ़ गए। इस मामले में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पछाड़ दिया।

Socialbakers नामक एक सोशल मीडिया मार्केटिंग कंपनी के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एक दिन में ट्विटर पर सचिन पायलट के 1,11,974 फॉलोअर्स बढ़ गए, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी के अकाउंट पर 55,892 फॉलोअर्स बढ़े। वहीं, PMO India के ट्विटर अकाउंट पर 31,260 फॉलोअर्स बढ़े। इसके बाद अमित शाह के 26,966 और ज्योतिरादित्य सिंधिया के 23,203 फॉलोअर्स बढ़े।

पिछले एक सप्ताह के आंकड़ों की बात करें तो सचिन पायलट के 1,87,042 फॉलोअर्स बढ़े हैं। बाकी सेलेब्रिटियों का कुछ ऐसा रहा है ट्रेंड।

ट्विटर पर मिल रहे बंपर समर्थन से गदगद होकर सचिन पायलट ने एक और ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने समर्थकों को आभार जताते हुए लिखा, “आज मेरे समर्थन में आगे आने वालों का दिल से शुक्रिया। राम राम सा।” सचिन पायलट के इस ट्वीट को भी 34 लाख रीट्वीट और 2.3 लाख से ज्यादा लाइक मिले।”

गौरतलब है कि एक तरफ कांग्रेस, पायलट समेत 19 विधायकों को अयोग्य घोषित करने की तैयारी में है तो दूसरी तरफ सचिन पायलट का रुख कुछ नरम हुआ है। पार्टी की शिकायत के बाद राजस्थान विधानसभा के स्पीकर ने सचिन पायलट और 18 अन्य बागी कांग्रेस विधायकों को नोटिस जारी किया है। ये नोटिस विधायकों द्वारा व्हिप का उल्लंघन करने और सोमवार और मंगलवार को आयोजित कांग्रेस विधायक दल की बैठकों में शामिल नहीं होने पर जारी हुआ है।

वहीं, कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने की अटकलों पर सचिन पायलट ने कहा कि वो अभी भी कांग्रेस में हैं और फिलहाल भाजपा में नहीं जा रहे हैं। पायलट ने कहा, “राजस्थान में कुछ नेताओं ने अटकलों को हवा देने की कोशिश की कि मैं भाजपा में शामिल हो रहा हूं, लेकिन मैं ऐसा नहीं कर रहा हूं। यह उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश है। मैंने राज्य में कांग्रेस को सत्ता वापस लाने के लिए बहुत मेहनत की है। सरकार गिराने की बात करना गलत है, मैं अपनी ही पार्टी के खिलाफ ऐसा क्यों करूंगा?”


राजस्थान में गहराया राजनीतिक संकट, कांग्रेस ने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)