सौमित्र चटर्जी की अंतिम यात्रा में शामिल न होने का परमब्रत को है मलाल

  • Follow Newsd Hindi On  

मुंबई, 15 नवंबर (आईएएनएस)। अभिनेता व फिल्मकार परमब्रत चट्टोपाध्याय फिलहाल काम के सिलसिले में हिमाचल प्रदेश में हैं, ऐसे में बांग्ला सिनेमा के प्रख्यात नायक सौमित्र चटर्जी की अंतिम यात्रा में न शामिल हो पाने का उन्हें मलाल है।

अभिनेता सौमित्रा चटर्जी का रविवार को 85 साल की उम्र में निधन हो गया है।


कहानी और परी जैसी बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके परमब्रत ने कहा कि दिवंगत अभिनेता उनके दोस्त होने के साथ-साथ गुरु भी थे।

निधन से पहले सौमित्र, परमब्रत द्वारा निर्देशित एक डॉक्यूमेंट्री अभियान की शूटिंग कर रहे थे। अक्टूबर में भारतलक्ष्मी स्टूडियो के शूटिंग फ्लोर पर वह आखिरी बार नजर आए थे।

परमब्रत कहते हैं, कोई उन्हें टीचर, तो कोई उन्हें गुरु मानता है और मैं भी उन्हें इसी रूप में देखता हूं। वह मेरे बहुत करीबी उदयन मास्टर थे, लेकिन उससे भी बढ़कर वह मेरे एक प्रिय मित्र थे। पिछले डेढ़ सालों में हमारे बीच रिश्ता काफी गहराया है। हम दोनों में कुछ चीजों को लेकर मतभेद होते रहते थे, जैसा कि दोस्तों के बीच अकसर हुआ करता है, लेकिन एक-दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान में केवल इजाफा ही हुआ है।


वह आगे कहते हैं, आज मेरे अस्तित्व का एक बड़ा भाग मुझसे जुदा हो गया है, एक अमूल्य बंधन टूट गया है। यह जताना असंभव है कि एक दोस्त के जाने पर कैसा महसूस होता है, वह दोस्त, जो आपका गुरु भी हो। पिछले एक महीने से हिमाचल में हूं। उनकी अंतिम यात्रा में भी शामिल नहीं हो सकूंगा। लगता है यही ठीक है। इस दुख का पालन एकांत में, एकाग्रता में ही किया जाना चाहिए।

–आईएएनएस

एएसएन/एसजीके

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)