सीधे गरीबों की जेब में दें पैसा, पैकेज पर फिर से करें काम : राहुल गांधी

सुषमा स्वराज के निधन पर राहुल गांधी ने जताया शोक, कहा- वह एक बेहतरीन नेता, शानदार वक्ता और असाधारण सांसद थीं

नई दिल्ली । कांग्रेस नेता राहुल गांधी कहा कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने जो आर्थिक पैकेज की घोषणा की है, उस पर फिर से काम करने की जरूरत है और ऐसी व्यवस्था की जाए कि पैसा सीधे गरीब लोगों की जेब में जाए। साथ ही, सरकार एजेंसियों की रेटिंग को देखकर चिंतित न हो।

राहुल गांधी शनिवार को क्षेत्रीय मीडिया के लिए अपनी तीसरी प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।


उन्होंने कहा, “आज हमारे लोगों को पैसों की जरूरत है। प्रधानमंत्री को इस पैकेज पर फिर से विचार करना चाहिए। मोदीजी को सीधे नगदी हस्तांतरण, मनरेगा के तहत 200 दिन काम देने, किसानों तक पैसा कैसे पहुंचाया जाए, इस बारे में सोचना चाहिए, क्योंकि इनमें से सभी लोग भारत के भविष्य हैं।”

राहुल ने कहा, “वक्त का तकाजा यह है कि पैसा सीधे लोगों की जेब में दिया जाए और इस संकट की घड़ी में लोगों को कर्ज लेने की जरूरत न पड़े।”

उन्होंने कहा, “जब बच्चे मुश्किल में होते हैं, तब मां उन्हें कर्ज नहीं देती, बल्कि सीधे राहत देती है। इस समय जरूरत इस बात की है कि पैसा लोगों की जेब में दिया जाए।”


उन्होंने कहा कि बढ़ती मांगें पूरी करने के लिए ‘न्याय’ को अस्थायी तौर पर लागू किया जा सकता है और इससे परेशान लोगों की मदद की जा सकती है।

राहुल गांधी शनिवार को दिल्ली के सुखदेव विहार में सड़क से पैदल गुजरते प्रवासी मजदूरों से मिले। परेशान प्रवासियों ने उनसे अपना दुख-दर्द साझा किया।

–आईएएनएस

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)