स्मोकिंग से कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को जारी की एडवाइजरी

  • Follow Newsd Hindi On  
स्मोकिंग से कोरोना संक्रमण का खतरा ज्यादा, स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को जारी की एडवाइजरी

देश में फैले कोरोना महामारी के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने नई एडवाइजरी जारी की है। स्वास्थ्य मंत्रालय की इस एडवाइजरी में कहा गया है कि स्मोकिंग (धूम्रपान) से भी कोरोना संक्रमण का खतरा है। मंत्रालय ने इसे लेकर सभी राज्यों को पत्र लिखा है। इसमें कहा गया कि स्मोकिंग को लेकर राज्यों को ज्यादा से ज्यादा जागरूकता फैलाने की जरूरत है। एडवाइजरी में कहा गया कि धूम्रपान करने वाले कोरोना संक्रमण के शिकार जल्दी हो सकते हैं। स्मोकिंग के चलते उनके फेफड़े कमजोर हो सकते हैं या पहले से किसी इंफेक्शन के शिकार हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में कोरोना संक्रमण का खतरा उनको और बढ़ जाता है।

इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने डब्ल्यूएचओ के तमाम अध्ययनों का हवाला दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि स्मोकिंग के दौरान बीड़ी, सिगरेट को उंगलियों से पकड़कर मुंह में लगाते हैं। लिहाजा होठ के जरिए भी इंफेक्शन स्मोकर के शरीर में जा सकता सकता है। स्मोकिंग के वक्त लोग वाटर पाइप का इस्तेमाल करते हैं और एक दूसरे से शेयर करते हैं। अगर कोई व्यक्ति संक्रमण का शिकार है तो उसके जरिये दूसरे लोगों को कोरोना के संक्रमण का खतरा हो सकता है।


इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत में कोरोनावायरस से संक्रमितों की संख्या 9352 हो गई है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 905 नए मामले सामने आए हैं और 51 लोगों की मौत हुई है। देश में कोरोना से अब तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है, हालांकि 980 मरीज इस बीमारी को हराने में कामयाब भी हुए हैं।

बता दें कि कोरोना वायरस को लेकर देश में 21 दिनों का लॉकडाउन जारी है। कल इसकी मियाद खत्म होने जा रही है। पीएम नरेंद्र मोदी लॉकडाउन के भविष्य को लेकर कल ऐलान कर सकते हैं। इसके बढ़ने की भी उम्मीद जताई जा रही है। कई राज्यों ने कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया है।


कोरोना वायरस: ब्रिटिश ऑडिटर के संपर्क में आने से नोएडा में आए 40 से ज्यादा मामले


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)