Delhi: छात्रों ने कोरोना का इलाज कर रहे डॉक्टर्स की मदद के लिए बनाया रोबोट, मरीजों को देंगे खाना और दवाई

यूपी: कानपुर बना कोरोना वायरस का नया हॉटस्पॉट, तीन मदरसों के 53 बच्चे पाए गए पॉजिटिव

देश में फैल रही कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी बहुत ही खतरनाक है। इस वायरस से अबतक कई मौतें हो चुकी है क्योंकि अबभी तक इस महामारी का टीका नहीं बना है। सरकार (Government) ने लोगों को घरों में रहने आदेश दिए हैं ताकि इसे फैलने से रोका जा सके। हालांकि ये बिमारी एक-दूसरे के संपर्क में आने से बहुत जल्दी फैलती है। जिसके वजह से रोज कोरोना (Coronavirus) के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

ऐसे भी कई मामले आए हैं, जब कोरोना मरीजों ( Patients) का इलाज कर रहे डॉक्टर्स को इसने अपनी चपेट में लिया। हालांकि अब कोरोना वायरस (Coronavirus) मरीजों का इलाज कर रह डॉक्टर्स (Doctors) के लिए राहत की खबर है क्योंकि दिल्ली के कुछ छात्रों ने एक रोबोट (Robot) का अविष्कार (Invention) किया है। जिससे मरीज और डॉक्टर्स के बीच में संपर्क साधा जा सकेगा।


दरअसल, दिल्ली (Delhi) के आईआईटी (IIT) वर्ल्ड स्कूल पीतमपुरा के छात्रों (Students) ने एक रोबोट का अविष्कार किया है। यह रोबोट स्वास्थ्यकर्मियों और कोविड -19 के रोगियों ( Patients) के बीच के संपर्क को कम करने में मदद कर सकता है। इस रोबोट का नाम पृथ्वी है। ये रोबोट रोगियों को भोजन और दवाइयां (Drugs) वितरित कर सकता है।

मीडिया खबरों के मुताबिक, निशांत नाम के एक छात्र (Student) का कहना है कि दिल्ली (Delhi) में कोरोनो वायरस के पचास से ज्यादा मामले डॉक्टरों (Doctors) के हैं, जो मरीजों का इलाज करते समय संक्रमित हो गए। ऐसे में हम कुछ ऐसा डिजाइन करना चाहते थे जो इस बीमारी से जूझ रहे फ्रंटलाइन पर उन लोगों की रक्षा करने में मदद करे।

छात्र ने आगे बताया कि इस रोबोट (Robot) की खास बात यह है इसे स्मार्टफोन (Smartphones) पर डाउनलोड किए गए ऐप के माध्यम से दूर से ही नियंत्रित किया जाता है। जिससे डॉक्टरों और मरीजों के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जा सकेगी।


ऐसे में इस तरीके के रोबोट की जरूरत सिर्फ अस्पतालों (Hospitals) में ही नहीं है बल्कि ये होम क्वारंटाइन (Quarantine) में रह रहे मरीजों (Patients) के लिए भी काम आएगा ताकि मरीज के परिवार वालों को इस वायरस (Coronavirus)का शिकार होने से बचाया जा सके।

बताया जा रहा है कि इस रोबोट (Robot) को बनाने में 1-2 हफ्ते का समय लगा। जिसकी कीमत 5 छह हजार रुपए है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)