सुप्रीम कोर्ट में बिहार सरकार का हलफनामा- रिया चक्रवर्ती ने गढ़ी सुशांत के डिप्रेशन में होने की फर्जी थ्योरी

  • Follow Newsd Hindi On  
Riya Chakraborty lodges fraud case against Sushant's sister Priyanka

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मामले में बिहार सरकार (Bihar Govt Affidavit) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दाखिल जवाब में कहा है कि रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) ने दिवंगत अभिनेता के डिप्रेशन में होने की फर्जी और गलत थ्योरी गढ़ी है। बिहार पुलिस का कहना है कि रिया और उसके परिजनों का मकसद सुशांत सिंह राजपूत के पैसे को हड़पना था और सुशांत की मानसिक बीमारी की झूठी कहानी तैयार की गई। बता दें कि सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना के एक थाने में FIR दर्ज करवाई थी।

‘8 जून को रिया सुशांत के घर से सामान लेकर गई’

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल इस हलफनामे में बिहार सरकार ने बताया कि 8 जून को रिया ने अपने साथ पैसे, लैपटॉप, क्रेडिट कार्ड और जूलरी लेकर चली गयी। कुछ महत्वपूर्ण कागज भी लेकर गई। मृतक सुशांत ने अपनी बहन को बताया था कि रिया ने फंसाने की धमकी दी है। पुलिस को जांच में ये भी पता चला है कि सुशांत के कोटक महिंद्रा बैंक खाते में 17 करोड़ थे। इनमें से 15 करोड़ ऐसे व्यक्ति के खाते में ट्रांसफर हुए जो सुशांत से जुड़ा नहीं था।


सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से मांगा था जवाब

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि एक प्रतिभाशाी कलाकार की मौत हुई है और ऐसे में मौत के पीछे की सच्चाई सामने आना जरूरी है। वहीं केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि हमने बिहार सरकार के सीबीआई जांच की सिफारिश की स्वीकार कर लिया है। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ऋषिकेश रॉय की बेंच ने महाराष्ट्र, बिहार और सुशांत सिंह राजपूत के पिता को इस मामले में जवाब दाखिल करने को कहा था।

मालूम हो कि बॉलीवुड अभिनेत्री और सुशांत की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने पटना से मामले को मुंबई ट्रांसफर करने की गुहार लगाई हुई है जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जवाब दाखिल करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि एक प्रतिशाशाली एक्टर की मौत हुई है। मुख्य मुद्दा ये है कि केस की जांच का जूरिडिक्शन क्या है।


सुशांत सिंह राजपूत का कॉल रिकॉर्ड सामने आया, मौत से एक हफ्ते पहले इन लोगों से हुई थी बात


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)