सुषमा स्वराज के निधन पर पीएम मोदी, राष्ट्रपति कोविंद समेत कई नेताओं ने जताया शोक

सुषमा स्वराज: दिल्ली की पहली महिला सीएम, देश की दूसरी महिला विदेश मंत्री...सियासी सफर पर डालें एक नज़र

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) का निधन हो गया है। वह 67 साल की थीं। मंगलवार रात को सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj)  को हार्ट अटैक आने के बाद दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया, जहाँ उन्होंने आखिरी साँसें लीं। बुधवार दोपहर 3 बजे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह, राहुल गांधी समेत कई राजनीतिक नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री, देश की दूसरी महिला विदेश मंत्री…ऐसा रहा सुषमा स्वराज का सियासी सफर

पीएम नरेंद्र मोदी ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक जताते हुए ट्विटर पर कहा, ‘स्वराज ने देश के लिए जो योगदान दिया, उसके लिए वह हमेशा याद रखी जाएंगी। सुषमा जी एक असाधारण वक्ता और उत्कृष्ट सांसद थीं, प्रत्येक राजनीतिक दल के लोग उनकी तारीफ करते थे। भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया, भारत असाधारण नेता के निधन से आहत है।’


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्विटर पर लिखा, ‘श्रीमती सुषमा स्वराज के निधन से बहुत दुःख हुआ है। देश ने अपनी एक अत्यंत प्रिय बेटी खोई है। सुषमा जी सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा की प्रतिमूर्ति थीं। लोगों की सहायता के लिए वे हमेशा तत्पर रहती थीं। उनकी सेवाओं के लिए सभी भारतीय उन्हें सदैव याद रखेंगे।’

वहीं उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने लिखा, ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री,वरिष्ठ नेता, प्रखर सांसद श्रीमती सुषमा स्वराज जी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं। देश ने आज एक ओजस्वी नेता और मैने एक निकट सहयोगी खो दिया है। नि: शब्द हूं। ईश्वर पुण्य गतात्मा को आशीर्वाद दें। उनके शोकाकुल परिजनों और सहयोगियों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।’

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, ‘पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता व संसदीय बोर्ड की सदस्य श्रीमती सुषमा स्वराज जी के आकस्मिक निधन से मन अत्यंत खिन्न है। उन्होंने एक प्रखर वक्ता, एक आदर्श कार्यकर्ता, लोकप्रिय जनप्रतिनिधि व एक कर्मठ मंत्री जैसे विभिन्न रूपों में भारतीय राजनीति में अपनी अमिट छाप छोड़ी है।’

वहीं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, सुषमा स्वराज जी के दुखद निधन से मुझे गहरा आघात लगा है। उन्होंने हमेशा मुझे बड़ी बहन का स्नेह दिया और संगठनात्मक सलाह देकर राजनीतिक अभिभावक का फ़र्ज़ निभाया। भारतीय राजनीति में मज़बूत विपक्षी और पूर्व विदेश मंत्री के तौर पर उनकी भूमिका को सदैव स्मरण किया जाएगा। उनके निधन से देश की, पार्टी की और व्यक्तिगत मेरी अपूर्णीय क्षति हुई है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ॐ शांति।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सुषमा स्वराज के निधन पर दुख जताते हुए कहा, ‘सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में सुनकर हैरान हूं। वह एक अद्भुत नेता थीं, जिनकी हर पार्टी के लोगों से मित्रता थी। ‘दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। ऊॅं शांति।’

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, ‘सुषमा स्वराज जी के निधन की ख़बर बेहद दुखद है। भारतीय राजनीति में उनका योगदान अमर रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।’

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)