11 तालिबान कैदियों के बदले 3 भारतीय इंजीनियर मुक्त, मई 2018 में किया था अपहरण

काबुल | अफगानिस्तान के बागलान प्रांत में लगभग छह महीने पहले बंधक बनाए गए तीन भारतीय इंजीनियरों को 11 तालिबान कैदियों की रिहाई के बदले कर दिया गया है। इस बात का का दावा आतंकवादी समूह के एक पूर्व कमांडर ने किया है। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, सईद मोहम्मद अकबर आगा ने रविवार को इसकी पुष्टि की।

आगा के अनुसार, मुक्त किए गए तालिबान सदस्यों में शेख अब्दुल रहीम, कुनार के पूर्व गवर्नर और निम्रोज के पूर्व गवर्नर मौलवी अब्दुल राशिद बलूच शामिल हैं।


तालिबान ने हालांकि आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की है। इसके अलावा अफगान या भारतीय सरकार के अधिकारियों ने भी अभी तक इस मामले पर कोई बयान नहीं दिया है।

ज्ञात हो कि मई 2018 में बागलान के बाग-ए-शामल गांव में सात भारतीय इंजीनियरों का अपहरण कर लिया गया था। वे भारतीय कंपनी केईसी के कर्मचारी थे।

अगवा किए गए इंजीनियर में से एक को इस साल रिहा कर दिया गया, जिसके बाद वह भारत लौट आया। इनमें से तीन इंजीनियरों के बारे में कुछ पता नहीं चल सका था।


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)