तेजस्वी यादव के गोपालगंज हत्याकांड को राजनीतिक मुद्दा बनाए जाने पर बिफरे मांझी

पटना । राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) जहां गोपालगंज में तिहरे हत्याकांड को लेकर राजनीतिक बढ़त बनाने में जुटे हैं, वहीं विपक्षी महागठबंधन में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने तेजस्वी के फैसले पर ही सवाल उठा रहे हैं।

मांझी ने शुक्रवार को तेजस्वी द्वारा एक घटना को मुद्दा बनाए जाने पर कहा कि एक घटना को नहीं बल्कि कई घटनाओं को मुद्दा बनाया जाना चाहिए। पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए मांझी ने कहा कि यह सच है कि राज्य में अपराधिक घटनाओं में वृद्घि हुई है लेकिन केवल एक ही घटना को मुद्दा बनाना सही नहीं है।


उन्होंने कहा कि कुछ दिनों के अंदर गया, जहानाबाद, नवादा, अररिया में भी अपराधिक घटनाएं घटी हैं। मांझी ने कहा कि इन सभी घटनाओं को मुद्दा बनाना चाहिए।

गोपालगंज को जातीय मामला बनाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “हम जातिवाद की बात नहीं कर रहे है। हम एक घटना की नहीं सभी घटनाओं को मुद्दा बनाने की बात कर रहे हैं।”

उन्होंने स्पष्ट कहा कि विरोधी दल के नेता किसी को कुछ नहीं समझ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी विपक्षी दल को एक साथ मिलकर काम करने की जरूरत है।


उल्लेखनीय है कि गोपालगंज में तिहरे हत्याकांड के मामले को लेकर शुक्रवार को तेजस्वी राजद के विधायक के साथ गोपालगंज जाने वाले थे, लेकिन उन्हें प्रशासन ने इजाजत नहीं दी।

–आईएएनएस

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)