Telangana: फिरौती के लिए अपहरण किए गए नौ वर्षीय बच्चे की हत्या

  • Follow Newsd Hindi On  
Big disclosure in JDR candidate murder case

तेलंगाना के महबूबाबाद जिले में 45 लाख रुपये की फिरौती के लिए अपहृत नौ वर्षीय बच्चे को गुरुवार को मृत पाया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी।

एक स्थानीय पत्रकार के नौ वर्षीय बच्चे कुसुम दीक्षित रेड्डी की लाश क्षत-विक्षत हालत में महबूबाबाद शहर से पांच किलोमीटर दूर अन्नारम की पहाड़ियों से बरामद हुई।


दीक्षित का रविवार शाम को महबूबाबाद शहर के उसके घर के बाहर खेलने के वक्त अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया था।

महबूबाबाद पुलिस अधीक्षक एस. कोटी रेड्डी ने कहा कि अपहरणकर्ता ने बच्चे का अपहरण करने के कुछ घंटों के अंदर ही उसकी हत्या कर दी थी, लेकिन वह प्रत्येक दिन पैसे की मांग करता रहा।

दीक्षित रेड्डी के घर के पास रहने वाले एक बाइक मैकेनिक मंदा सागर(23) को हत्या और अपहरण के मामले में गिरफ्तार किया गया है।


पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी ने आसानी से धन कमाने के लिए बच्चे का अपहरण किया था। एसपी ने कहा, “क्योंकि बच्चा उसे जानता था, वह अपहरणकर्ता के साथ चला गया। आगे ले जाने के बाद उसे एहसास हुआ कि अकेले बच्चे को संभालना बहुत मुश्किल है। वह डर गया था कि बच्चा अपने माता-पिता को सब बता देगा, इसलिए उसने बच्चे की हत्या कर दी।”

बच्चे की हत्या करने के बाद भी, उसने घटना के दिन रात नौ बजे उसकी मां वसंता को फोन किया और 45 लाख रुपये की राशि मांगी। अपहरणकर्ता रोज इंटरनेट से बच्चे के परिवार को फोन कर पैसा मांगता था। बुधवार को उसने परिवार से पैसे को मोडू कोटला इलाके में लाने के लिए कहा।

एक न्यूज चैनल में काम करने वाले बच्चे के पिता रंजीत रेड्डी पैसों का बैग लेकर पहुंच भी गए, लेकिन अपहरणकर्ता वहां से बाहर नहीं आया। उन्होंने वहां बुधवार रात तक इंतजार किया।

बाद में परिवार की शिकायत पर अपहरणकर्ता को पकड़ने के लिए पुलिस ने जाल बिछाया। एसपी ने कहा कि उन्होंने कई संदिग्धों से पूछताछ की लेकिन जांच से पता चला कि मंदा सागर ने इस घटना को अकेले अंजाम दिया।

पुलिस ने इस केस का कैसे भंडाफोड़ किया, इसका खुलासा बाद में किया जाएगा।

–आईएएनएस

 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)