नेता ने वसीयत में लिखी थी अंतिम इच्छा, ‘मुझे ताबूत में नहीं मर्सिडीज कार में बैठाकर दफनाया जाए’

नेता ने वसीयत में लिखी थी अंतिम इच्छा, 'मुझे ताबूत में नहीं मर्सिडीज कार में बैठाकर दफनाया जाए'

हम सब जानते हैं कि मरने के बाद इंसान को जलाया जाता है या फिर मिट्टी में दफनाया जाता है। लेकिन साउथ अफ्रीका (South Africa) से एक अनोखा वाकया सामने आया है। यहां पर एक नेता ने अपनी वसीयत (Will) में कहा कि उन्हें मरने के बाद ताबूत में नहीं बल्कि उनकी मर्सिडिज (Mercedes) कार में दफनाया जाए।

खबरों के मुताबिक, 72 वर्षीय चीफ पिट्सो साउथ अफ्रीका (South Africa) के जोहानसबर्ग में यूनाइटेड डेमोक्रिट मूवमेंट नेता थे। उन्होंने अपनी वसीयत (Will) में अपनी तीन बेटियों और दो बेटों से कहा कि उन्हें मरने के बाद उनकी पसंदीदा कार मर्सिडिज (Mercedes) में बैठाकर ही दफनाया जाए।


उन्होंने मरने के पहले अपनी अंतिम इच्छा अपने परिवार वालों को लिखकर दी थी। जिसके बाद उनके दोनों हाथों को स्टेयरिंग पर रखकर कार के साथ ही दफनाया गया। चीफ पिट्सो की अंतिम संस्कार में गांव वाले भी शामिल हुए जिन्होंने ढ़ोल नगाड़ों से उनकी पारंपरिक तरीके से अंतिम विदाई की।

यूनाइडेट डेमोक्रेटिक मूवमेंट के नेता कि विचित्र अंतिम संस्कार के राष्ट्र में एक चर्चा का विषय बन गया है क्योंकि दूसरी तरफ गांव वालों ने कोरोना वायरस (Coronavirus) लॉकडाउन तोड़कर इसमें भाग लिया। उनकी बेटी ने कहा हमने उनकी अंतिम इच्छा पूरी की है। आशा है कि वह हमें नीचे देखकर खुश हैं।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)