Nobel Prize 2019: दो अमेरिकी और एक ब्रिटिश वैज्ञानिक को मिला 2019 के चिकित्सा का नोबेल

कोपेनहेगन | अमेरिका के तीन वैज्ञानिकों विलियम जी. काएलिन, ग्रेग एल. सेमानाज और ब्रिटेन के पीटर. जे. रैटक्लिफ को सोमवार को चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, कैरोलिंस्का इंस्टीट्यूट में नोबेल एसेंबली ने घोषणा की कि तीनों वज्ञानिकों को इस बात की उनकी खोज के लिए पुरस्कृत किया गया कि कोशिकाएं ऑक्सीजन की उपलब्धता को कैसे पहचान लेती हैं और खुद को उसके अनुरूप ढाल लेती हैं।

अपनी खोज के जरिए वे इस बात को समझने में सक्षम हुए हैं कि ऑक्सीजन का स्तर किस तरह कोशिका चयापचय और शारीरिक क्रियाप्रणाली को प्रभावित करता है।


संस्थान के अनुसार, इन वैज्ञानिकों की खोजों से रक्ताल्पता, कैंसर और अन्य बीमारियों से लड़ने की नई रणनीति विकसित करने का मार्ग प्रशस्त हो सकता है।

न्यूयॉर्क में 1957 में पैदा हुए काएलिन आंतरिक चिकित्सा और ऑन्कोलॉजी में एक विशेषज्ञ हैं।

सेमेनाज भी न्यूयॉर्क में 1955 में पैदा हुए थे और वह एक बाल रोग विशेषज्ञ हैं। और रैटक्लिफ का जन्म 1954 में लंकाशायर में हुआ था और वह नेफ्रोलॉजी में विशेषज्ञ हैं।

तीनों वैज्ञानिकों को यह पुरस्कार 10 दिसंबर को स्टॉकहोम के कोंसर्थस में एक दोहरे समारोह में प्रदान किया जाएगा। इसी दिन पुरस्कार के संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल की पुण्यतिथि है। इसी मौके पर ओस्लो सिटी हॉल में नोबेल का शांति पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा।

सभी पुरस्कारों में एक नकद पुरस्कार शामिल है, जो इस साल 90 लाख स्वीडिश क्रोनोर (912,000 डॉलर) है।


Nobel Peace Prize 2019 : 11 अक्टूबर को होगी नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा, 301 उम्मीदवार हैं दावेदार

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)