तीस हजारी झड़प : वकीलों का कामकाज ठप करने का एलान, पुलिस मौन!

 नई दिल्ली, 2 नवंबर (आईएएनएस)| तीस हजारी अदालत में वकील और पुलिस के बीच हुई मारपीट और गोलीबारी के बाद वकीलों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है।

 वकीलों ने घटना के कुछ देर बाद ही ऐलान कर दिया कि आगामी चार नवंबर यानी सोमवार तक राजधानी की जिला अदालतों में कामकाज ठप रहेगा। सोमवार बाद राष्ट्रीय राजधानी के वकीलों का रुख क्या होगा? इस पर खबर लिखे जाने तक वकीलों के बीच सहमति बनाए जाने के प्रयास जारी थे।


अदालतों में कामकाज ठप रखने के निर्णय की घोषणा शनिवार शाम वकीलों के पदाधिकारियों ने मीडिया से बातचीत में की। उधर सीने में गोली लगने से गंभीर रूप से घायल वकील विजय वर्मा का अस्पताल में इलाज जारी है। उसकी स्थिति स्थिर बनी हुई है।

राष्ट्रीय राजधानी में इतनी बड़ी घटना को लेकर, समाचार लिखे जाने तक दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक, दिल्ली पुलिस प्रवक्ता और मध्य दिल्ली जिले के डीसीपी मंदीप सिंह रंधावा, दिल्ली पुलिस मुख्यालय के अतिरिक्त प्रवक्ता सहायक पुलिस आयुक्त अनिल मित्तल, उत्तरी परिक्षेत्र के विशेष पुलिस (कानून-व्यवस्था) आयुक्त संजय सिंह, उत्तरी जिला पुलिस की डीसीपी (जिनके जिले में तीस हजारी अदालत स्थित है) मोनिका भारद्वाज सहित किसी भी जिम्मेदार आला अफसर ने मीडिया को अधिकृत बयान नहीं दिया है। जबकि गुस्साए वकीलों ने दिल्ली पुलिस नियंत्रण कक्ष की एक जिप्सी और एक जेल वाहन को आग में झोंक दिया।

वकीलों की समन्वय समिति के अध्यक्ष महावीर शर्मा और महासचिव धीर सिंह ने मीडिया के सामने ऐलान किया कि वकीलों पर गोली चलाने वाली दिल्ली पुलिस को कानून के शिकंजे से बचने नहीं देंगे।


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like