दिल्ली: इमरजेंसी में अलग-अलग नंबर से मिला छुटकारा, अब डायल करना होगा सिर्फ एक नंबर

  • Follow Newsd Hindi On  
43 Mobile Apps पर केंद्र सरकार ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए लगाई रोक

देश की राजधानी दिल्ली में आपातकालीन स्थिती में अलग-अलग नंबर मिलाने से अब राहत मिल गई है। बुधवार से इमरजेंसी नंबर 112 कर दिया गया है। पुलिस, एम्बुलेंस या फिर फायर समेत इमरजेंसी सेवाओं के लिए आपको 100 नंबर की जगह 112 नंबर पर कॉल करना होगा। वैसे फिलहाल अभी 100 नंबर कुछ दिनों तक के लिए चलता रहेगा।

अब डायल करें सिर्फ 112

गौरतलब है कि अभी तक पुलिस, एम्बुलेंस, फायर समेत अन्य इमरजेंसी सेवाओं के लिए अलग-अलग नंबरों पर कॉल करना होता था, लेकिन अब से ऐसा करने की जरूरत नहीं है। आपातकालीन स्थिति में आपको सिर्फ 112 पर कॉल करना होगा और फिर नंबर डॉयल करते ही संबंधित एजेंसी को जानकारी मिल जाएगी।


‘सी-डेक’ की मदद से बना सॉफ्टवेयर

विशेष पुलिस आयुक्त (ऑपरेशंस) डॉ. मुक्तेश चंद्र ने बताया, ‘डायल-112 से वक्त, मेहनत और पैसे तीन चीजों की बचत होगी।’ दिल्ली में इसे चालू करने में सेंटर फॉर डिवेलपमेंट ऑफ अडवांस कम्प्यूटिंग यानी ‘सी-डेक’ का सराहनीय योगदान रहा है। डायल-112 का सॉफ्टवेयर सी-डेक ने ही ईजाद किया है।

इमरजेंसी सेवाओं के लिए थे कई नंबर

अभी तक आप पुलिस (100), अस्पताल (108), वुमन हेल्पलाइन नंबर (1090) और फायर स्टेशन (101) जैसे जरूरी नंबरों को अलग-अलग सेव किया करते थे, ताकि किसी भी आपातकालीन स्थिति में तुंरत सहायता मिल सके। लेकिन अब आपको इन नंबरों से छुटकारा मिल जाएगा क्योंकि अब ये सारी सुविधाएं आपको 112 नबंर डायल करने से मिल जाएंगी। आपातकालीन स्थिति में इमरजेंसी कॉल के लिए बुधवार की शाम करीब पौने 4 बजे गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी इसका उद्घाटन करेंगे।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)