न्यूजीलैंड हमले की तारीफ करने पर व्यक्ति की नौकरी गई, देश से बाहर निकाला

एक तरफ पूरी दुनियां जहां न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च मस्जिद हमले का शोक मना रही है वहीं इस बर्बर हमले का समर्थन करने के कारण एक व्यक्ति को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है और उसे वापस उसके देश भेज दिया गया है।

मामला संयुक्त अरब अमीरात(UAE) के दुबई स्थित ट्रांसगार्ड ग्रुप(Transguard Group) का है जहां के एक कर्मचारी को कंपनी ने बर्खास्त कर दिया है, इतना ही नहीं, उसे देश से निर्वासित भी कर दिया गया। वजह ये रही कि उस कर्मचारी ने न्यूजीलैंड के शहर क्राइस्टचर्च में मस्जिद पर हुए आतंकी हमले का अपने फेसबुक पर जश्न मनाया था। जिसके बाद उसके खिलाफ कार्रवाई की गई। आरोप है कि कर्मचारी ने ना सिर्फ जश्न मनाया बल्कि भड़काऊ टिप्पणियां भी की थीं। फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट करने वाले इस व्यक्ति की वास्तविक पहचान होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। कंपनी की नीति के तहत उसे संबंधित अधिकारियों को सौंप दिया गया और फिर यूएई सरकार ने उसे देश से निकाल दिया।


अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर एक बयान में, Transguard समूह ने कहा– “सप्ताहांत में, एक ट्रांसगार्ड कर्मचारी ने अपने निजी फेसबुक अकाउंट पर क्राइस्टचर्च, न्यूजीलैंड में मस्जिद के हमले का जश्न मनाने के लिए भड़काऊ टिप्पणियां कीं। जिसके बाद एक आंतरिक जांच की गई। जिसके बाद यह तथ्य उजागर हुआ कि व्यक्ति सोशल मीडिया पर अपने विचार पोस्ट कर रहा था।”

बयान में कहा गया है कि कर्मचारी को उसके रोजगार से समाप्त कर दिया गया और 2012 की कंपनी नीति और यूएई साइबरक्राइम लॉ नंबर 5 के अनुसार संबंधित अधिकारियों को सौंप दिया गया था। इस बयान के अनुसार, उसे यूएई सरकार द्वारा निर्वासित किया गया है।


इस कार्रवाई के बाद कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर ग्रेग वॉर्ड ने गल्फ न्यूज़ को दिए अपने बयान में कहा कि, सोशल मीडिया के गलत इस्तेमाल को लेकर हमारी जीरो टोलरेंस की नीति है। इस व्यक्ति को हटा दिया गया है और अधिकारियों को सौंप दिया गया है।


न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री का नस्लवाद के खिलाफ वैश्विक संघर्ष का आह्वान

न्यूजीलैंड हमले में मारे गए 5 भारतीयों की शिनाख्त

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)