इंदौर में पोहा-जलेबी खाकर बुरे फंसे गौतम गंभीर, ट्विटर पर जमकर हुए ट्रोल

दिल्ली में प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक हुई रद्द, इंदौर में 'कमेंट्री' कर रहे गंभीर पर भड़के ट्विटर यूजर्स

दिल्ली में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुँच चुका है। हेल्थ इमरजेंसी को देखते हुए पिछले दो दिनों से दिल्ली-एनसीआर के सभी स्कूल बंद हैं। चारों ओर पसरे धुंध में दिल्ली-एनसीआर के लोगों का दम घुट रहा है। जानलेवा प्रदूषण को कम करने के लिए लोग केंद्र से लेकर राज्य सरकारों से ठोस पहल उठाने की उम्मीद कर रहे हैं। लोग धुंध की चादर ओढ़े सड़कों और इमारतों की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं। इस बीच एक और तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। पूर्वी दिल्ली के सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर की। इस तस्वीर में गौतम गंभीर खिलखिलाते हुए नज़र आ रहे हैं और इंदौर की जलेबी का लुत्फ़ उठा रहे हैं। दिल्ली की बिगड़ी हुई आबोहवा के बीच स्थानीय सांसद की ये बेफिक्री लोगों को नागवार गुजर रही है।

दरअसल, गौतम गंभीर आजकल इंदौर में हैं। इंदौर में भारत-बांग्लादेश के बीच टेस्ट मैच खेला जा रहा है। गौतम गंभीर बतौर कमेंटेटर वहां मौजूद हैं। इसी दौरान उनकी ये जलेबी खाते हुए तस्वीर ट्विटर पर पूर्व क्रिकेटर और साथी कमेंटेटर वीवीएस लक्ष्मण ने डाली है।



गंभीर ईस्ट दिल्ली से सांसद होने के साथ-साथ संसद की शहरी विकास स्थायी समिति के सदस्य भी हैं। दिल्ली में वायु प्रदूषण के संकट पर आज इस समिति की बैठक होनी थी। लेकिन सूत्रों की मानें तो यह बैठक इसलिए रद्द कर दी गई क्योंकि पर्यावरण मंत्रालय के सचिव, संयुक्त सचिव, दिल्ली विकास प्राधिकरण के वाईस चांसलर समेत कई अधिकारी इसमें नहीं पहुंचे।

सांसद जगदंबिका पाल संसद की इस स्थायी समिति के अध्यक्ष हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक केवल चार सांसद ही इस बैठक में शामिल होने पहुंचे। जिसमें अध्यक्ष जगदंबिका पाल, हसनैन मसूदी, सी आर पाटिल और संजय सिंह शामिल हैं।

जाहिर है कि गंभीर भी कमेंट्री में व्यस्त होने के कारण इस अहम बैठक के लिए उपलब्ध नहीं रहे होंगे। इसलिए लोग गौतम गंभीर पर निशाना साध रहे हैं। दिलचस्प बात ये है कि खुद गौतम गंभीर भी दिल्ली में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर सीएम अरविंद केजरीवाल से अक्सर सवाल करते रहते हैं। ऐसे में आज उन्हें खुद आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है।

पत्रकार प्रशांत कुमार ने लिखा, “तो दिल्ली के माननीय सांसद गौतम गंभीर के पास कमेंट्री करने और इंदौर में मस्ती करने के लिए समय ही समय है, लेकिन प्रदूषण के मुद्दे पर संसदीय समिति की बैठक में शामिल होने के लिए वक्त नहीं है। कमेंट्री से पैसे मिलते हैं, मीटिंग से नहीं!”

पत्रकार कुमार कुणाल ने भी गंभीर की गैरमौजूदगी पर सवाल उठाया है।

एक और पत्रकार शरद कुमार ने लिखा, “आज दिल्ली में प्रदूषण के मुद्दे पर संसदीय समिति की बैठक थी। DDA और नगर निगम के तो अधिकारी गैर हाजिर रहे ही, लेकिन सबसे गंभीर बात- पूर्वी दिल्ली से बीजेपी सांसद गौतम गंभीर भी गैर हाजिर रहे।”

वरिष्ठ पत्रकार मृणाल पांडे ने कटाक्ष किया – गौतम गंभीर तपस्या में लीन हैं।

वहीं रोफल गांधी नामक ट्विटर यूजर लिखते हैं, “लच्छू भाई! कृपया गौतम गंभीर भाई को बताएं कि दिल्ली में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर संसदीय समिति की बैठक रद्द करनी पड़ी क्योंकि कई अधिकारी नहीं आए और सांसद महोदय इंदौर की साफ़ हवा में पोहे-जलेबी का लुत्फ़ उठा रहे हैं।”

संसदीय समिति की बैठक रद्द होने के मुद्दे पर अरुण अरोड़ा ने लिखा, “प्रदूषण कॉज चैंपियन जो कि इस समिति का हिस्सा हैं, वो भी गायब रहे। कहाँ हैं वो?”

शिरीषा राव लिखती हैं, “जी यही है, गंभीर जी का सॉल्यूशन फॉर पॉल्यूशन। ईस्ट दिल्ली के सांसद गंभीर जी दिल्ली एयर इमरजेंसी पर इंदौर में गंभीर मीटिंग करते हुए देखे जा सकते हैं।”

अनाहत ने लिखा, “जब प्रदूषण के खिलाफ़ वास्तविक लड़ाई लड़नी हो तो गौतम गंभीर मीटिंग को गंभीरता से लड़ने की जगह जलेबी खाने में मस्त दिखते हैं।”

मुकेश मित्तल ने भी गौतम गंभीर पर तंज कसा है।

बता दें, शुक्रवार सुबह दिल्ली में हवा की गुणवत्ता सूचकांक (एआईक्यू) 528 के साथ और बिगड़ गई। वहीं गुरुवार को एआईक्यू 470 रही जो शुक्रवार की तुलना में कम था। पीएम10 की मात्रा जहां 496 थी वहीं पीएम 2.5 की मात्रा 324 थी। वहीं पीएम 2.5 के स्तर 300 से अधिक रहने के कारण प्रदूषण नियंत्रण अधिकारियों ने दो दिनों तक स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया था।

सफर इंडिया की भविष्यवाणी के अनुसार, शुक्रवार को इसमें कुछ सुधार की उम्मीद है। दक्षिण पश्चिम राजस्थान में ताजा पश्चिमी विक्षोभ चक्रवाती सर्कुलेशन के तौर पर मौजूद है, जो उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित कर रहा है। वहीं हल्के बादलों के छाने से आगामी दिनों में पंजाब क्षेत्र में बारिश होने की संभावना है, जिससे वहां दो दिनों तक पराली जलाने की गुंजाईश कम रहेगी।


दिल्ली में वायु प्रदूषण इमरजेंसी जोन में बरकरार

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मुद्दा बन सकता है वायु प्रदूषण

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)