PM मोदी की सुरक्षा पर रोजाना 1.62 करोड़ होता है खर्च, ट्विटर पर टांग खींच रहे लोग- ‘महंगी पड़ रही फकीरी’

पीएम मोदी की सुरक्षा पर रोजाना 1.62 करोड़ होता है खर्च, ट्विटर पर टांग खींच रहे लोग- 'महंगी पड़ रही फकीरी'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा का मामला सुर्खियों में है। कारण केंद्रीय गृह मंत्रालय का एक जवाब है। जी हाँ, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने संसद में दिए एक जवाब में बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में रोजाना 1 करोड़ 62 लाख रुपए खर्च होते हैं। यह जानकारी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने संसद में दिए एक प्रश्न के लिखित जवाब में दी। जी किशन रेड्डी ने लोकसभा में बताया कि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी को ही सुरक्षा देता है। इसके अलावा देश की 56 वीआईपी हस्तियों की सुरक्षा का जिम्मा सीआरपीएफ का है।

संसद में डीएमके सांसद दयानिधि मारन ने सवाल किया था कि देश में कितने लोगों को एसपीजी और सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) द्वारा दी जाने वाली सुरक्षा मिली हुई है। इसके जवाब में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया कि वर्तमान में सिर्फ एक शख्स को एसपीजी सुरक्षा मिली हुई है। हालांकि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम नहीं लिया।


लोकसभा : गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने को लेकर कांग्रेस का हंगामा

बता दें कि संसद ने कानून बनाया है, जिसमें प्रावधान किया गया कि सिर्फ देश के प्रधानमंत्री को ही एसपीजी सुरक्षा दी जाएगी। प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद 5 साल तक एसपीजी सुरक्षा रहेगी और फिर हटा ली जाएगी। पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा पर रोजाना 1 करोड़ 62 लाख रुपए के खर्च की खबर सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। लोग इस आंकड़े के आधार पर चुटकी ले रहे हैं और मोदी सरकार को ट्रोल भी कर रहे हैं।

PM मोदी की सूर्य ग्रहण वाली तस्वीरें हुई वायरल, किसी ने बनाए memes तो किसी ने बताया चश्मे की कीमत

लोग लिख रहे हैं कि जो आंकड़े गृह मंत्रालय ने जारी किए हैं, उसके हिसाब से प्रति मिनट रु. 11,263 पीएम मोदी की सिर्फ सुरक्षा पर खर्च हो रहे हैं। ये फकीरी तो काफी महंगी साबत हो रही है देश के लिए। वहीं कुछ यूजर्स लिख रहे हैं कि ये तो सिर्फ सुरक्षा का खर्च है, कपड़े और घूमने-फिरने का खर्च तो अलग है।

कुछ यूजर्स ने लिखा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री सरकारी संस्थाओं को बेच रहे हैं, बच्चों को एक वक्त का पौष्टिक आहार नहीं दे पा रहे, महिलाओं को सुरक्षा दे पाने में नाकाम रहे हैं, लेकिन खुद की सुरक्षा पर देश के करोड़ों रुपये बहा रहे हैं।

कुछ यूजर्स तो ये भी लिख रहे हैं कि पीएम मोदी पर जितना खर्च हो रहा है उससे कम में देशभर के लिए कल्याणकारी योजना की शुरुआत की जा सकती है।

एसपीजी के लिए इस साल बजट में 10 फीसदी इजाफा

उल्लेखनीय है कि दयानिधि मारन ने संसद में यह सवाल बजट में एसपीजी सुरक्षा के लिए आवंटित फंड में 10 फीसदी का इजाफा करने पर किया गया। साल 2020-21 के लिए एसपीजी को 592.55 करोड़ रुपये बजट में आवंटित किया गया है। 2019-20 के बजट में एसपीजी के लिए 540.16 करोड़ रुपये के फंड का आवंटन किया गया था, तब चार लोगों को एसपीजी सुरक्षा मिली थी। यानि पिछले साल एक व्यक्ति की सुरक्षा में 135 करोड़ रुपये का खर्च आता था। इसका मतलब है कि इस साल प्रति व्यक्ति एसपीजी सुरक्षा में करीब 340 प्रतिशत की आश्चर्यजनक वृद्धि हुई है।


क्या है एसपीजी (SPG) सुरक्षा, क्यों सबसे अलग और स्पेशल है यह दस्ता, जानें यहाँ

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)