यूपी: अवैध खनन और पेयजल संकट के खिलाफ धरने पर बैठे बीजेपी विधायक

यूपी: अवैध खनन और पेयजल संकट के खिलाफ धरने पर बैठे बीजेपी विधायक

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की तिंदवारी सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक बृजेश प्रजापति केन नदी की जलधारा में किए जा रहे अवैध खनन से उत्पन्न पेयजल संकट के खिलाफ गुरुवार आधी रात से मवई बाईपास के पास सड़क पर धरने पर बैठे हुए हैं, जिससे सैकड़ों गाड़ियों की लंबी कतारें लगी हुई हैं।

उपजिलाधिकारी (सदर) संदीप कुमार ने शुक्रवार को बताया, “तिंदवारी से भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति गुरुवार रात करीब 11 बजे पहले राष्ट्रीय राजमार्ग-76 पर भूरागढ़ के पास सड़क पर धरने में बैठ गए थे। इसके कुछ देर बाद वह अपने समर्थकों के साथ मवई सर्*ट हाउस के पास बांदा-कानपुर राजमार्ग पर कई चार पहिया वाहनों को सड़क पर आड़े-तिरछे लगाकर धरना दे रहे हैं। करीब नौ घंटे से सड़क पर दोनों ओर सैकड़ों वाहन जाम में फंसे हैं।”


उन्होंने बताया कि “विधायक का आरोप है कि केन नदी की जलधारा में हो रहे अवैध खनन से बांदा शहर और आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र में पीने के पानी का संकट उत्पन्न हुआ है। विधायक को मनाने की कोशिश की जा रही है।”

जिलाधिकारी हीरालाल ने कहा, “जनप्रतिनिधि जब चाहें, जहां चाहें, धरने पर बैठ सकते हैं। उन्हें सिर्फ मनाने की कोशिश की जा सकती है। रही बात अवैध खनन की तो केन नदी की जलधारा की निगरानी के लिए हर जगह पुलिस बल तैनात है, मैं खुद भी एसपी के साथ केन नदी की निगरानी के लिए जाता हूं। काफी हद तक पेयजल संकट दूर किया जा चुका है।”

विधायक प्रजापति ने शुक्रवार सुबह एक बयान में आरोप लगाया, “जिलाधिकारी की सह पर बालू माफिया केन नदी की जलधारा में अवैध खनन कर कृत्रिम जल संकट पैदा कर रहे हैं। जब तक खनन बंद नहीं हो जाता और पेयजल की व्यवस्था ठीक नहीं हो जाती, तबतक धरना जारी रहेगा। जिलाधिकारी चाहें तो पुलिस से गिरफ्तार करवा कर धरना खत्म करा सकते हैं।”

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)