यूपी: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह बनेंगी दुल्हन, इस विधायक संग लेंगी सात फेरे

यूपी: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह बनेंगी दुल्हन, इस विधायक संग लेंगी सात फेरे

रायबरेली। उत्तर प्रदेश के रायबरेली सदर से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह जल्द ही परिणय सूत्र में बंधने जा रही हैं। पंजाब के शहीद भगत सिंह नगर से कांग्रेस विधायक अंगद सिंह सैनी के साथ अदिति सिंह सात फेरे लेंगी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अदिति और अंगद के बीच सगाई पिछले साल दिसंबर में हुई। विवाह समारोह नई दिल्ली के एक रिसॉट में 21 नवंबर को होगा। निमंत्रण कार्ड सीमित अतिथियों को दिए जा रहे हैं। दूल्हे के परिवार की ओर से भी 23 नवंबर को एक प्रीतिभोज आयोजित किया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, अदिति के पिता अखिलेश सिंह का निधन 20 अगस्त को हो जाने के मद्देनजर विवाह समारोह के जश्न में अवश्य ही कमी की जा रही है।


यूपी: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह बनेंगी दुल्हन, इस विधायक संग लेंगी सात फेरे

इस नए जोड़े में कई सारी समानताएं हैं। अदिति (32) और अंगद (29) साल 2017 में अपने पहले ही प्रयास में विधायक बने और दोनों एक राजनीतिक परिवार से संबंधित हैं। जहां अदिति रायबरेली सदर सीट से पांच बार विधायक रह चुके दिवंगत अखिलेश सिंह की बेटी हैं, वहीं अंगद भी पंजाब में नवांशहर सीट पर छह बार जीत हासिल करने वाले दिवंगत दिलबाग सिंह के परिवार से आते हैं। चूंकि अंगद सिख और अदिति हिंदू हैं, तो ये दोनों ही रीति-रिवाजों के अनुसार शादी करेंगे।

राहुल गांधी से शादी की अफवाह

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले अदिति सिंह और राहुल गांधी की सगाई की खबरें फैल गई थी। इसके बाद अदिति सिंह ने राहुल गांधी के साथ सगाई की खबरों का खंडन किया था और उनको अपना भाई बताया था। उन्होंने कहा कि वो राहुल गांधी को राखी बांधती हैं। उन्होंने इन खबरों को अफवाह बताते हुए खंडन किया था।


यूपी: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह बनेंगी दुल्हन, इस विधायक संग लेंगी सात फेरे

आपको बता दें कि अदिति सिंह कांग्रेस के गढ़ रायबरेली से विधायक है। वह कांग्रेस परिवार के बेहद करीब बताई जाती हैं। अदिति सिंह पिछले कुछ समय से सुर्खियों में हैं। अदिति के ऊपर हाल ही में हमला हुआ था, जिसके बाद उन्हें योगी सरकार ने वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर दी थी। अदिति सिंह उस वक्त चर्चा में आई थी, जब उन्होंने पार्टी के बहिष्कार के बावजूद महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर 2 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश विधानसभा के विशेष सत्र में हिस्सा लिया और भाषण दिया। हालांकि इसके बाद उन्हें पार्टी की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। वहीं उन्हें अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं का विरोध भी झेलना पड़ा था।

(इनपुट: आईएएनएस)


UP: रायबरेली सदर की MLA अदिति सिंह पर कार्रवाई को लेकर उलझन में कांग्रेस

उप्र : अदिति सिंह के चचेरे भाई कांग्रेस में शामिल

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)