UP: लखनऊ में पुलिस इंस्पेक्टर ने पंखे से लटककर दी जान

UP: दलित भाई-बहन की कौशांबी में गोली मारकर हत्या

लखनऊ | लखनऊ में तैनात उत्तर प्रदेश पुलिस के 42 वर्षीय इंस्पेक्टर ने अपने घर पर पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान बृजेश कुमार के रूप में की गई, जो राज्य के आपातकालीन हेल्पलाइन ‘112’ में तैनात थे।

रविवार की शाम को देर से आने पर कुमार और उनकी पत्नी के बीच झगड़ा हुआ था जिसके बाद उन्होंने खुद को अपने कमरे में बंद कर लिया। अगर वह किसी बात पर परेशान होते थे या परिवार में झगड़ा होता था तो वह अक्सर कमरे में खुद को बंद कर लेते थे।


उनकी पत्नी माया ने मंगलवार को उन्हें बाहर बुलाने की कोशिश की लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। कमरे में बाहरी ओर एक दरवाजा था और उन्हें लगा कि वह बाहर चले गए हैं। बाद में शाम को उन्होंने खिड़की से कमरे में झांका तो उनकी चीख निकल गई।

पड़ोसियों ने उनकी चीख सुनी और दौड़कर घर पहुंचे और देखा कि इंस्पेक्टर का शव कमरे के पंखे से लटक रहा था। पुलिस को बुलाया गया और उन्होंने शव को नीचे उतारा जिसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। इसके साथ ही पुलिस कर्मियों द्वारा आत्महत्या करने की फेहरिस्त में एक और मामला जुड़ गया।

पिछले महीने, 8 अक्टूबर को, कांस्टेबल राज रतन वर्मा ने 20 घंटे की शिफ्ट करने के बाद आत्महत्या कर ली थी। सितंबर में, सब इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार मिश्रा ने लगातार तबादलों से परेशान होकर खुदकुशी कर ली थी।


इससे पहले, अगस्त में हेड कांस्टेबल देवी शंकर मिश्रा ने विभाग में वरिष्ठों द्वारा उत्पीड़न किए जाने का आरोप लगाते हुए आत्महत्या कर ली थी।

पिछले साल मई में, एटीएस में तैनात अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) राजेश साहनी ने अपने ही कार्यालय में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)