UP: सोनभद्र में जमीन विवाद में चली गोलियां, 9 की मौत, कई घायल

बिहार: बिहार: खगड़िया में खूनी संघर्ष, वर्चस्व की लड़ाई में दो पूर्व मुखिया की गोली मारकर हत्यावैशाली में कांग्रेस नेता की गोली मार कर हत्या

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर भयानक खूनी संघर्ष का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक 9 लोगों की मौत हो गई है और लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए हैं। घटना घोरावल की ग्रामसभा मूर्तिया के गांव उम्भा की है। स्थानीय लोगों के मुताबिक, 90 बीघे जमीन को लेकर पुरानी रंजिश के चलते दो पक्षों के बीच असलहे से फायरिंग के अलावा गड़ासे से भी लड़ाई हुई।

मामले की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्‍पताल पहुंचाया, जहां पर कई की स्थिति गंभीर बनी हुई है। मृतकों में तीन महिला और छह पुरुष शामिल हैं। वहीं घायलों की संख्‍या दर्जन भर से अधिक है, जिनका इलाज अस्‍पताल में किया जा रहा है।


90 बीघा जमीन का चल रहा था विवाद

ग्रामीणों के अनुसार प्रधान पक्ष और गांव के दूसरे पक्ष को लेकर जमीन का विवाद था। बुधवार की दोपहर असलहों से लैस होकर प्रधान पक्ष जमीन के विवाद के बाद काफी संख्‍या में लोगों को लेकर कब्‍जा करने पहुंचा जिसके बाद विवाद ने खूनी संघर्ष का रूप ले लिया। ग्रामीणों के अनुसार लगभग 90 बीघा जमीन कब्‍जा करने के लिए 30 ट्रैक्‍टर में करीब 300 लोगों को लेकर प्रधान पहुंचा था।

अलीगढ़: कुरान पढ़ाने वाला मौलाना करता था मासूम बच्ची से छेड़छाड़, गिरफ्तार

कब्‍जे के दौरान फायरिंग और मारपीट के बीच देखते ही देखते लाशें बिछ गईं और दर्जन भर लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। गंभीर रूप से घायलों में दो लोगों को वाराणसी रेफर कर दिया गया है। मामले की जानकारी होने के बाद प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और घायलों के बेहतर इलाज के लिए आवश्‍यक दिशा निर्देश दिया।


CM योगी ने दिया प्रभावी कार्यवाई का आदेश

वहीं घटना पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए मृतकों के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। साथ ही घायलों को तत्काल चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए सोनभद्र के डीएम को निर्देश दिया है। उन्होंने डीजीपी को व्यक्तिगत रूप से मामले की निगरानी करने और दोषियों को पकड़ने के लिए बहुत प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।

UP: अपराधियों के हौसले बुलंद, सपा व विहिप नेताओं की हत्या

आईजी एलओ प्रवीण कुमार ने बताया कि यह पीएस घोरावल ग्राम उभा में सुदूर इलाके की एक घटना है। वहां के प्रधान ने 2 साल पहले 90 बीघा जमीन खरीदी थी। लेकिन वह अपने कुछ सहयोगियों के साथ जमीन पर कब्जा करने के लिए चला गया, जिसका स्थानीय ग्रामीणों ने विरोध किया और उसके बाद खूनी संघर्ष हो गया।


UP: सड़क पर नमाज के विरोध में हिन्दू युवा वाहिनी ने किया रोड पर हनुमान चालीसा का पाठ

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)