UP: रिटायर होने वाला था पति, नौकरी के लिए पत्नी और पुत्र ने हत्या कर शव के किये टुकड़े

पत्नी का मोबाइल मिलता था बिजी, पति ने मौत के घाट उतारा

कुछ दिनों में रिटायर होने वाले सरकारी नौकरी कर रहे शख्स के लिए नौकरी ही उसके मौत की वजह बन गई। परिवार वालों की लालच ने उसकी जान ले ली। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के बीबीगंज इलाके में नौकरी और पेंशन पाने के लालच में बेटे और पत्नी ने मिलकर शख्स की हत्या कर दी। यही नहीं शव को हत्या के बाद कूड़े के ढेर में फेंक दिया।

सरकारी नौकरी और पेंशन के लिए की हत्या

बताया जा रहा है कि जिले के अहमदनगर गांव के 59 साल के तेजराम की हत्या उनकी पत्नी और बेटी ने कर दी। इसका खुलासा एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने मंगलवार को किया। हत्या की वजह सरकारी नौकरी और पेंशन बतायी गयी है। मामले को लेकर पुलिस ने जांच की तो यह बात सामने आयी कि खाना खाते वक्त पत्नी ने कुल्हाड़ी से वार कर पति का एक हाथ अलग कर दिया। उसके बाद बेटे ने उनकी गर्दन पर वार कर दिया जिससे गरदन पूरी तरह से कट गया। मां-बेटे से इतने के बाद भी नहीं रहा गया तो उन्होंने शव का तीसरा टुकड़ा भी कर डाला ताकि शव को पैक करके फेंकने में सुविधा हो। उन्होंने शव को गांव के कूड़े के ढेर में तीनों टुकड़ों में फेंक दिया।


अगले साल रिटायर होने वाले थे तेजराम

अहमदनगर गांव के तेजराम बहुपुर आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में चपरासी थे।  59 साल के तेजराम अगले साल रिटायर होने वाले थे। तीन हिस्सों में कटा उनका शव रविवार को कूड़े के ढेर में मिला था। पुलिस को शुरुआती जांच में ही मामला संदिग्ध लगा जिसके बाद उसने मां-बेटे पर शख्‍ती दिखायी। तेजराम की पत्नी और बेटे पुलिस की सख्‍ती के आगे टूट गये, इसके बाद उन्होंने वारदात का जो हाल सुनाया उससे पुलिसवालों के भी रोंगटे खड़े हो गये।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)