गुजरात: शादी के घर में खत्म हुआ पानी, गांव वालों ने किया ‘जल दान’

गुजरात: शादी के घर में खत्म हुआ पानी, गांव वालों ने किया 'जल दान'

किसी भी परिवार में शादी एक बड़ा उत्सव होता है। शादी धूमधाम से की जाती है। इसके लिए तैयारियां महीनों पहले शुरू हो जाती हैं। लेकिन ऐसे में सबसे बुनियादी चीज ‘पानी’ ही खत्म हो जाए तो? छोटा उदयपुर जिले के एक गांव में कुछ ऐसा ही हुआ।

दरअसल, मंगलवार को वडोदरा के छोटा उदयपुर जिले के संखेडा तालुका के निवासी नरेश तड़वी के घर में शादी थी। शादी के इस माहौल में सभी रिश्तेदार आए हुए थे। उनके घर में लगभग 1,000 मेहमान थे। ऐसे में परेशानी तब खड़ी हुई, जब उनके घर पानी खत्म हो गया। नरेश तड़वी ने बताया सुबह बिजली न होने के कारण पानी नहीं भरा जा सका। साथ ही उन्होंने कहा कि ‘वैसे तो हर रोज बिजली जाती है, लेकिन ऐसा दिन के आखिर में होता है। लेकिन मंगलवार को तो सवेरे से ही बिजली नहीं थी इसीलिए बोरवेल भी नहीं चले।’


शादी के घर में ऐसी स्तिथि होने पर मजबूरन परिवार वालों को गांव के हर घर से पानी मांगना पड़ा, ताकि मेहमानों के लिए खाने की व्यवस्था की जा सके। बताया जा रहा है कि इलाके में एक ही हैंडपंप था। लेकिन मेहमानों के पीने और खाने के लिए जितना पानी चाहिए था, उससे उतना निकालने में कई घंटे लग जाते। इसलिए परिवार वालों ने गांव के लोगों से पानी मांगने के विकल्प को चुना।

गांव के लोगों ने इस परिवार की मदद की और करीब 35 से 40 औरतों ने तड़वी परिवार को दो-दो घड़े पानी दिया, ताकि उनके घर में शादी के इस माहौल में कोई और परेशानी न आए। गांव वालों से मदद मिलने पर तड़वी काफी खुश हुए और उन्होंने बताया, ‘हमें दो ड्रम भरने के लिए पर्याप्‍त मात्रा में पानी मिल गया था। इसके अलावा और पानी लाने के लिए बहुत सी दूसरी औरतें भी कतार लगाकर हैंडपंप से पानी भरती रहीं। सुबह तो बहुत मुश्किल समस्‍या खड़ी हो गई थी क्‍योंकि दूर के शहरों और गांवों से दोपहर की दावत के लिए मेहमान आने लगे थे।’

बता दें कि छोटा उदयपुर जिले का संखेडा तालुका गांव पानी की कमीं होने के कारण परेशानी में है। यहां अक्सर ऐसे मामले होते रहते हैं जब गांववालों को मेहमानों के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए हैंडपंप का सहारा लेना पड़ता है।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)