Women’s T20 World Cup: पूनम यादव की फिरकी में फंसा ऑस्ट्रेलिया, विश्व कप में भारत का विजयी आगाज

Women's T20 World Cup: पूनम यादव की फिरकी में फंसा ऑस्ट्रेलिया, विश्व कप में भारत का विजयी आगाज

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की लेग स्पिनर पूनम यादव (4 विकेट) की बेहतरीन गेंदबाजी और दीप्ति शर्मा (49*) की शानदार पारी की बदौलत भारतीय टीम ने महिला टी-20 विश्व कप में विजयी शुरुआत की है। भारत ने पहले मुकाबले में मजबूत ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हरा दिया। टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया के सामने 133 रन का लक्ष्य रखा। जवाब में कंगारू टीम 115 रन पर ऑलआउट हो गई और मैच हार गई।

भारत की तरफ से पूनम यादव ने चार ओवर में 19 रन देकर चार, जबकि शिखा पांडे ने तीन विकेट चटकाए। विश्व कप की पहली जीत में पूनम ने अहम भूमिका निभाई। मैच में एकबार वह हैट्रिक लेने से चूक गईं।


कौन हैं पूनम यादव

पूनम यादव का जन्म आगरा में हुआ था। उनके पिता रघुवीर सिंह सेना से सेवानिवृत्त और उनकी मां मुन्नी देवी हाउसवाइफ हैं। पूनम ने अपनी माता-पिता की प्रेरणा से क्रिकेट जगत में नाम रौशन किया है। खेल दिवस पर उन्हें राष्ट्रपति ने अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया था। पूनम अर्जुन अवार्ड पाने वाली देश की 54वीं क्रिकेटर हैं।

पूनम यादव ने 5 अप्रैल 2013 को बांग्लादेश के खिलाफ महिला टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में डेब्यू किया था। डेब्यू मैच में ही पूनम ने शानदार प्रदर्शन किया था। उस मैच पूनम ने चार ओवर में 21 रन देकर तीन विकेट झटके थे। टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पूनम का बेस्ट गेंदबाजी रिकॉर्ड बांग्लादेश के खिलाफ ही है। पूनम ने बांग्लादेश के खिलाफ नौ रन देकर चार विकेट चटकाए थे। मैच के बाद उन्होंने कहा कि यह तीसरी बार है जब वह हैट्रिक से चूकीं हैं।

पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर भारतीय टीम ने निर्धारित 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 132 रन ही बनाए। टीम को इस स्कोर तक पहुंचाने में दीप्ती शर्मा के आखिरी ओवरों में बनाए गए रनों का अहम योगदान रहा। दीप्ति एक रन से अर्धशतक से चूक गईं। उन्होंने 46 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 49 रनों की पारी खेली।


टीम को हालांकि जिस तरह की तेज शुरुआत मिली थी, उसे वो कायम नहीं रख पाई। अपना पहला विश्व कप खेल रहीं 15 साल की सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा ने अपने आतिशी अंदाज में 15 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्के की मदद से 29 रन बनाए। उनकी साथी जोड़ीदार स्मृति मंधाना 11 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 10 रन बनाकर 41 के कुल स्कोर पर टीम के पहले विकेट के रूप में आउट हो गईं।

दो रन बाद एलिसा पैरी ने शेफाली को भी पवेलियन भेज दिया। और चार रन बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर (2) भी आउट हो गईं जिससे भारतीय टीम संकट में आ गई और उसकी रनगति धीमी हो गई।

दीप्ति और जेम्मिाह रोड्रिगेज (26) ने टीम को 100 के आंकड़े पर पहुंचाया। यहां रोड्रिगेज पवेलियन लौट लीं और टीम का भार दीप्ती पर आ गया, जिसे उन्होंने बखूबी निभाते हुए टीम को सम्मानजनक स्कोर दिया। दीप्ति के साथ वेदा कृष्णामूर्ति 11 गेंदों पर नौ रन बनाकर नाबाद रहीं। ऑस्ट्रेलिया की ओर से जेस जोनासेन ने दो विकेट लिए। पैरी और किममिंसे को एक-एक सफलता मिली।


महिला क्रिकेटर शेफाली वर्मा बनी स्टार स्पोटर्स कैम्पेन का चेहरा

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)