World Heritage Day 2019: विश्व की धरोहरों को बचाने के उद्देश्य से मनाया जाता है वर्ल्ड हेरिटेज डे

World Heritage Day 2019: विश्व की धरोहरों को बचाने के उद्देश्य से मनाया जाता है वर्ल्ड हेरिटेज डे

पृथ्वी जितनी प्राकृतिक रूप से सुंदर है, उतनी ही सुंदर हैं इस पर बनी एतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक धरोहर। जो इसकी सुंदरता को कई गुना बढ़ा देती हैं। विश्व भर में अनेक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहर हैं, जो सदियों से पृथ्वी पर मौजूद हैं और इतिहास को बयान करती हैं। ऐसी जगहों और इमारतों को वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्जा दिया जाता है और इन्हें इस लिस्ट में डालने का काम UNESCO का होता है।

विश्व भर में इतिहास की इन इमारतों को सहेज कर रखना एक बेहद अहम् और मुश्किल कार्य है। इन अनेक धरोहरों को सहेज कर रखने की जिम्मेदारी न केवल उस देश की होती है, बल्कि पूरा विश्व एकजुट होकर अपनी इतिहास की इन निशानियों को सँभालने की ज़िम्मेदारी निभाता है। लेकिन दुनिया की बेहतरीन संस्थाओं के लिए यह बेहद मुश्किल काम होता है।


यूनाइटेड नेशनस एजुकेशनल, साइंटिफिक एंड कल्चरल आर्गेनाईजेशन (UNESCO) द्वारा हेरिटेज के तौर पर चुनी गयी इन जगहों को सहेज कर रखने का जिम्मा UNESCO का होता है, जो विभिन्न देशों के साथ मिल कर इन हेरिटेज साइटों की देखभाल करता है। इन जगहों को वर्ल्ड हेरिटेज फंड भी मिलता है।

विश्व में ऐसे ही एतिहासिक, सांस्कृतिक और प्राकृतिक साइट्स के प्रति जागरुकता बढ़ने के लिए 18 अप्रैल को वर्ल्ड हेरिटेज डे के तौर पर मनाया जाता है।

वर्ल्ड हेरिटेज डे का इतिहास


द इंटरनेशनल कॉउन्सिल ऑन मोनुमेंट्स एंड साइट्स (ICOMOS) ने 1982 में 18 अप्रैल को वर्ल्ड हेरिटेज डे के तौर पर मानाने की घोषणा की थी, जिसे 1983 में UNESCO की जनरल असेंबली से मंज़ूरी मिली। इसकी शुरुआत करने का उद्देश्य सांस्कृतिक धरोहरों की अहमियत को समझने और उनको बचाने के लिए जागरूकता फैलाना है।

पूरी दुनिया में ऐसे 1092 साइट्स हैं। इनमें से सांस्कृतिक साइट्स की संख्या 209 है, प्राकृतिक साइट्स की संख्या 845 और मिक्सड प्रॉपर्टी की संख्या 38 है। आपको बता दें कि हेरिटेज साइट्स के मामले में इटली को अव्वल माना जाता है। अकेले इटली में 51 हेरिटेज साइट्स है। चीन में इनकी संख्या 48 है और स्पेन में 44 है। वहीं फ्रांस में 41, जर्मनी में 40, मेक्सिको में 33 तो वहीं भारत में इनकी 36 हेरिटेज साइट्स हैं।

दुनिया के 10 मशहूर सांस्कृतिक वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स

1. इंसान का खोया हुआ शहर या माचु-पिच्चु (पेरू)
2. मिस्र के पिरामिड (मिस्र)
3. ग्रेट वॉल ऑफ़ चाइना (चीन)
4.बगान शहर (म्यांमार)
5. ताजमहल (भारत)
6. द्वीप- मोंट सेंट मिशेल (फ्रांस)
7. अंकोरवाट मंदिर (कंबोडिया)
8. एथेंस शहर के एक्रोपॉलिस (ग्रीस)
9. रापा नुई नेशनल पार्क ईस्टर (आइलैंड)
10. शिशेन इत्जा (मैक्सिको)

भारत की हेरिटेज साइट्स

भारत में कुल 36 हेरिटेज साइट्स की हैं, जिनमें से 28 सास्कृतिक साइट्स हैं तो वहीं 7 प्राकृतिक और 1 मिक्स्ड साइट हैं। आगरा का ताजमहल, असम के काजीरंगा नेशनल पार्क, गया का महाबोधि मंदिर, दिल्ली का कुतुब मीनार और लाल किला, खजुराहो के मंदिरों और अजंता-एलोरा-एलिफैंटा की गुफाओं को हेरिटेज साइट्स में प्रमुखता से जगह दी जाती है।

वर्ल्ड हेरिटेज डे मनाने का उद्देश्य अपने सांस्कृतिक और प्राकृतिक धरोहरों का संरक्षण करना और साथ ही विश्व भर में इसके प्रति जागरूकता फैलाना है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)