विश्व किडनी दिवस 2019 : क्या है इसका महत्व और मनाने का उद्देश्य, जानें इस साल की थीम

विश्व किडनी दिवस 2019 : थीम, उद्देश्य और महत्व

विश्व किडनी दिवस हर साल  मार्च  के दूसरे सप्ताह में गुरूवार को मनाया जाता है। इस बार 14 मार्च को दुनियाभर में इसे मनाया जा रहा है। साल 2006 में इस विषय की गंभीरता को देखते हुए इसकी शुरुआत  की गई थी। किडनी हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है, जो हमारे स्वस्थ्य जीवन के लिए बेहद आवश्यक है, लेकिन  किडनी रोगों के बारे में आज भी लोगों को बहुत कम जानकारी है। इसलिए विश्व किडनी दिवस का उद्देश्य हमारे समग्र स्वास्थ्य के लिए हमारे गुर्दे के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। इस दिन का उद्देश्य दुनिया भर में गुर्दे की बीमारी और इससे जुड़े स्वास्थ्य मुद्दों की आवृत्ति और प्रभाव को कम करना है।

विश्व किडनी दिवस 2019 का उद्देश्य और महत्व

विश्व किडनी दिवस 2019 का विषय “हर जगह हर किसी के लिए किडनी स्वास्थ्य” है। विषय का उद्देश्य गुर्दे की स्वास्थ्य और कल्याण तक पहुंच के संदर्भ में समावेशिता और असमानता को कम करना है। दुनिया भर में किडनी की बीमारी और किडनी की स्वास्थ्य असमानता के बढ़ते बोझ को उजागर करते हुए, इस विषय का उद्देश्य दुनिया भर के सभी लोगों के लिए एक समान समाज को बनाना है। युनिवर्सल हैल्थ कवरेज (UHC) हर किसी के लिए, हर जगह किडनी स्वास्थ्य, किडनी रोगों की रोकथाम और शुरुआती उपचार के लिए कहता है। इस दिन का उद्देश्य क्रोनिक किडनी रोग (CDK), विशेष रूप से मधुमेह और उच्च रक्तचाप आदि के लिए महत्वपूर्ण जोखिम कारकों को उजागर करना भी है। यह दिन CDK के लिए व्यवस्थित स्क्रीनिंग का विकल्प चुनने के लिए भी लोगों को प्रोत्साहित करता है। विशेषकर मधुमेह और उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए।


कुछ अन्य महत्वपूर्ण उद्देश्य

स्वस्थ जीवन शैली को अपनाएं। किडनी की बीमारियों की रोकथाम में जीवनशैली एक अहम भूमिका निभाती है। स्वस्थ्य जीवनशैली के नियमित पालन से इन बीमारियों से बचा जा सकता है।

किडनी की बीमारियों के लिए रेगुलर स्क्रीनिंग करना।

गुर्दे के रोगियों के लिए बुनियादी स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करें।


समान गुर्दे की देखभाल की गारंटी और गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सामाजिक आर्थिक बाधाओं को खत्म करना

दुनियाभर में हैं किडनी की बीमारी के शिकार लोग दुनिया भर में लगभग 850 मिलियन लोग अलग- अलग कारणों से किडनी की बीमारी के शिकार हैं। खबरों के अनुसार क्रोनिक किडनी रोग (CKD) हर साल कम से कम 2.4 मिलियन लोगों की मौतों का कारण बन रहा है। यह मौत का 6 वां सबसे तेजी से बढ़ता कारण माना जाता है, जो 2040 तक 5 वाँ प्रमुख कारण भी बन सकता है। किडनी के रोगों से बचने के लिए इस ओर तत्काल ध्यान देने और लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने की जरूरत है।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)