74 वर्ष की महिला ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म, जानें कैसे हुआ मुमकिन

74 वर्ष की महिला ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म, जानें कैसे हुआ मुमकिन

गुंटूर। आंध्र प्रदेश के गुंटूर शहर के अस्पताल में गुरुवार को एक 74 वर्षीय महिला ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया। इन व्रिटो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) प्रक्रिया के माध्यम से गर्भ धारण करने वाली मंगायम्मा ने यहां अहल्या नर्सिग होम में जुड़वां बच्चों को जन्म दिया।

चार डॉक्टरों की एक टीम ने सिजेरियन ऑपरेशन किया। डॉक्टरों की टीम का नेतृत्व करने वाले उमाशंकर ने कहा कि मां और बच्चे दोनों स्वस्थ और ठीक हैं।


History in the making

पूर्वी गोदावरी जिले के नेललापतीर्पाडू की रहने वाली मंगायम्मा शादी के 54 साल बाद भी संतानहीन थीं। मंगायम्मा ने अपने पति वाई. राजा राव के साथ मिल कर पिछले साल के अंत में नर्सिग होम में आईवीएफ विशेषज्ञों से संपर्क किया। इसके बाद नर्सिग होम ने दंपति की मदद करने का फैसला किया।

डॉक्टर नियमित रूप से मंगायम्मा के स्वस्थ्य पर नजर बनाए हुए थे। यहां तक कि नर्सिग होम ने प्रसव से पहले दंपति के सत्कार की व्यवस्था की।



25 जुलाई का इतिहास- दुनिया के पहली IVF शिशु लुइस ब्राउन का जन्म आज ही के दिन 1978 में इंग्लैंड में हुआ

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)