बगदादी आतंक का ‘खलीफा’

काहिरा, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)| अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन के बाद से अबू बक्र अल-बगदादी दुनिया का सबसे वांछित आतंकवादी नेता था। उत्तर-पश्चिम सीरिया में अमेरिका के रात भर (शनिवार) चले विशेष अभियानों में उसकी मौत हो गई।

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, उसे एक निर्मम आतंकवादी के रूप में याद किया जाएगा। इराक और सीरिया में तथाकथित ‘खलीफा’ की घोषणा करने और दुनिया भर में पवित्र युद्ध के नाम पर खूनखराबा करने का वह दोषी था।


आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) का मुखिया अपनी मौत के समय 48 वर्ष का था, उसने धर्म के नाम पर हजारों नागरिकों की हत्या करवाई।

क्रूर दंड के जरिए आतंकी संगठन आईएस ने क्षेत्र में अपना शासन लागू किया, जो इस्लाम की शुरुआती व्याख्याओं से प्रेरित मध्ययुगीन रीति-रिवाजों पर आधारित था।

आतंकी बगदादी के शासनकाल को विशेष रूप से बर्बर तरीकों के लिए याद किया जाएगा, जिसमें युद्ध, भयावहता, यातनाओं और फांसी के पेशेवर वीडियो शामिल हैं।


 

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like