कई देश चाह रहे भाजपा को जानना, अब सिंगापुर ने नेताओं को बुलाया

 नई दिल्ली, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)| देश में लगातार दो बार भारी बहुमत से मोदी सरकार बनने के बाद से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का विदेश में भाव बढ़ा है।

  दुनिया के कई देश भारत में दक्षिणपंथी राजनीति को नई ऊंचाई देने वाली इस पार्टी के बारे में जानने के लिए खासे उत्सुक हैं। चीन, दक्षिण कोरिया के बाद अब सिंगापुर ने भाजपा नेताओं के दल को बुलाया है। उनका दौरा नवंबर में होने वाला है।


भाजपा सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल सिंगापुर जाने वाला है। इसमें कुछ और नेता शामिल रहेंगे। सिंगापुर के समूचे विकास मॉडल और अर्थव्यवस्था के बारे में भी प्रतिनिधिमंडल अध्ययन करेगा। भाजपा प्रतिनिधिमंडल वहां के राजनीतिक दलों के नेताओं से भी भेंट कर उनकी जिज्ञासाएं शांत करेगा।

इससे पहले, 14 से 19 अक्टूबर के बीच भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय महासचिव पी. मुरलीधर राव के नेतृत्व में दक्षिण कोरिया गया था। वहां से लौटने के बाद प्रतिनिधिमंडल दक्षिण कोरिया के विकास मॉडल पर रिपोर्ट भी तैयार कर रहा है।

दक्षिण कोरिया से पहले भाजपा नेताओं का दल चीन भी जा चुका है। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल 24 अगस्त को चीन के दौरे पर गया था। तब चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ने भाजपा नेताओं को विचारों के आदान-प्रदान के लिए आमंत्रित किया था।


दक्षिण कोरिया जाने वाले प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे श्यामा प्रसाद मुखर्जी रिसर्च फाउंडेशन के निदेशक डॉ. अनिर्बान गांगुली ने आईएएनएस से कहा, “2014 के बाद से भाजपा के बारे में जानने के लिए दुनिया उत्सुक हुई है। इसी कड़ी में दुनिया के कई देश भाजपा नेताओं के दल को विचारों के आदान-प्रदान के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “कुछ ताकतें विदेशों में भाजपा व उसकी विचारधारा के खिलाफ नकारात्मक बातें फैलाने की कोशिश करती हैं। ऐसे दौरों पर विदेशी राजनीतिक दलों से सीधा संवाद होने के कारण निगेटिव नैरेटिव का काउंटर करने में मदद मिलती है। दक्षिण कोरिया के दौरे के दौरान वहां के राजनीतिक दल और उनके थिंक टैंक भाजपा से खासे प्रभावित दिखे।”

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like