महाराष्ट्र : शिवसेना सरकार बनाने को लेकर कर रही कठिन सौदेबाजी

 मुंबई, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)| शिवसेना की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ कड़ी सौदेबाजी दिखा रहे एक घटनाक्रम में शिवसेना नेता संजय राउत ने मंगलवार को एक बार फिर भाजपा को सत्ता में 50-50 साझेदारी के फॉर्मूले की याद दिलाई और कहा कि उसके पास दूसरे विकल्प भी हैं।

  अपने सहयोगी भाजपा पर हमला करते हुए राउत ने मंगलवार को कहा, “यहां कोई दुष्यंत चौटाला नहीं है, जिसके पिता जेल में हैं। हम महाराष्ट्र में सच्चाई की राजनीति करते हैं। अगर कोई हमें सत्ता से दूर रखने की कोशिश करता है तो यह सच्चाई की राजनीति नहीं होगी। हम देख रहे हैं कि क्या हो रहा है और लोग कितना नीचे जा सकते हैं।”


यह प्रत्यक्ष तौर पर भाजपा के हरियाणा में सरकार बनाने का संदर्भ था, जहां वह बहुमत से छह सीट दूर थी, लेकिन दुष्यंत चौटाला की मदद से सरकार बनाई। दुष्यंत चौटाला ने जाट एकीकरण व भाजपा विरोधी अभियान के जरिए चुनाव में जीत हासिल की।

एक स्पष्ट संकेत में राउत ने कहा कि उनके पास ‘दूसरे विकल्प’ भी हैं, जिसे वे तलाशने के इच्छुक नहीं हैं। यह स्पष्ट तौर पर भाजपा को संदेश है कि वह भाजपा के समर्थन के बिना सरकार बना सकते हैं। यह राकांपा समर्थित स्वतंत्र विधायक शंकरराव गडाख के सोमवार को समर्थन की पृष्ठभूमि के मद्देनजर सामने आ रहा है।

शिवसेना ने विधानसभा चुनाव में 56 सीटों पर जीत हासिल की है। शिवसेना का दावा है कि पांच अन्य विधायकों के समर्थन के साथ उसका आंकड़ा 61 पर पहुंच गया है। सेना सत्ता में बराबरी की साझेदारी के लिए कड़ी सौदेबाजी कर रही है, जिसमें बराबर संख्या में मंत्री और ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग शामिल है।


(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like