फुटपाथ पर बाल काटने वाले की ईमानदारी से खुश हुआ विदेशी यूट्यूबर, 20 रु के बदले दिए 28000

फुटपाथ पर बाल काटने वाले की ईमानदारी से खुश हुआ विदेशी यूट्यूबर, 20 रु के बदले दिए 28000

नार्वे के जाने-माने यूट्यूबर हैराल्ड बाल्डर(Harald Baldr) इन दिनों गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में हैं। शहर में इनके आने से एक व्यक्ति बहुत ज्यादा खुश है। खास बात यह है कि यह व्यक्ति हैराल्ड का कोई फैन या फॉलोअर नहीं है बल्कि सड़क के किनारे बाल काटने वाला एक नाई है। दरअसल इस नाई को 20 रुपये वाले एक हेयरकट के 28 हजार रुपये मिले हैं और यह इनामी रकम मंगीलाल नामक इस नाई को उसकी ईमानदारी के लिए हैराल्ड ने दी है। इस हेयर कटिंग का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

अहमदाबाद की सड़कों पर घूमते हुए हैराल्ड ने बाल कटाने के बारे में सोचा और वह जाकर सीजी रोड के फुटपाथ पर एक दुकान पर बैठ गए। हैराल्ड ने नाई से अपने बाल काटने को कहा। बाल कटवाने के बाद हैराल्ड को लगा था कि नाई उन्हें विदेशी समझकर ज्यादा पैसे ले लेगा लेकिन मंगीलाल ने उनसे सिर्फ 20 रुपये ही लिए। मंगीलाल की ईमानदारी देख हैराल्ड ने उन्हें 400 डॉलर यानी करीब 28 हजार रुपये दिए।


मंगीलाल को इतने पैसे पाकर यकीन नहीं हुआ। यहां तक कि मंगीलाल ने जब इस बारे में अपनी पत्नी को बताया तो उसे लगा कि मंगीलाल ने ये पैसे किसी गलत तरीके से कमाए हैं। हालांकि जब मंगीलाल ने हैराल्ड के साथ अपनी सेल्फी दिखाई तब जाकर उनकी पत्नी को यकीन हुआ। मंगीलाल जितना दो महीने में कमाते हैं, उतना उन्हें सिर्फ एक हेयरकट के लिए मिल गया। हैराल्ड ने कहा, ‘नाई चाहता तो हेयरकट के लिए कम से कम 100 रुपये ले सकता था और मुझे भी कोई समस्या नहीं होती लेकिन उसने ईमानदारी दिखाई। मैंने उसकी शानदार सर्विस के लिए इनाम दिया है, जिससे कि वह नया सामान खरीद सके।

इतना ही नहीं, हैराल्ड ने इसके बाद मंगीलाल के साथ चाय भी पी। हैराल्ड ने भाषा की समस्या को देखते हुए पास से गुजर रहे एक स्थानीय नागरिक से नाई से बात करने में मदद मांगी। उस शख्स ने अनुवादक का काम किया और हैराल्ड नाई के बारे में और जानकारी हासिल कर सका। हैराल्ड ने कहा कि YouTube से होने वाली आय से वो आगे भी जरुरतमंद लोगों की मदद करते रहेंगे।


आपको बता दें कि हैराल्ड बाल्डर यूरोपीय देश नार्वे के नागरिक हैं और पेशेवर घुमक्कड़ हैं। इन्होंने दुनिया भर की यात्राएं की हैं और पिछले कई सप्ताह से भारत में हैं और अलग-अलग शहरों में घूम रहे हैं। वैसे हैराल्ड ने पहली बार किसी की मदद नहीं की है। हाल ही में उन्होंने गुजरात के एक स्कूल में भी 70 हजार रुपये दिए थे। इसके अलावा उन्होंने बच्चों के साथ बैठकर मिड-डे-मील भी खाया था।

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)