कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वापस लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजी 30 बसें, नीतीश सरकार से कही ये बात

  • Follow Newsd Hindi On  
कोटा में फंसे बिहार के छात्रों को वापस लाने के लिए पप्पू यादव ने भेजी 30 बसें, नीतीश सरकार से कही ये बात

कोरोना महामारी के कारण देश भर में 3 मई तक लॉकडाउन लागू है। इस वजह से कई लोग अपने घरों से सैकड़ों-हजारों मील दूर दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक अधिसूचना जारी कर दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों, छात्रों, श्रद्धालुओं और अन्य लोगों को वापस लाने की अनुमति दे दी। अधिसूचना के मुताबिक राज्य सरकार आवागमन के लिए बस का इस्तेमाल कर सकती है। बसों को सैनिटाइज करना आवश्यक है तथा सोशल डिस्टेंसिग का पालन होना चाहिए।

इसके बाद बिहार में जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने राजस्थान के कोटा में फंसे बिहारी छात्रों को वापस लाने के लिए गुरुवार को 30 बसें भेजीं। इसकी जानकारी पप्पू यादव ने ट्वीट कर दी।


उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि बिहार सरकार के पास धन नहीं है। मैं तन-मन-धन से हर बिहारी को बिहार वापस लाने को प्रतिबद्ध हूं। कोटा से छात्रों को लाने हेतु वहां 30 बस लगवा दिया है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से आग्रह है कि वह बस सेनेटाइज करवा कर, छात्रों की सुरक्षित यात्रा का इंतज़ाम सुनिश्चित कराएं।

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि बिहार सरकार मेरे समक्ष आत्मसमर्पण कर दे, मैं पूरे देश में फंसे एक-एक बिहारी को ले आऊंगा। धन नहीं है, पर मन है, दिल है। मेरी हर सांस,हर रिश्ता,हर संबंध बिहार के लिए समर्पित है।

गौरतलब है कि जाप अध्यक्ष पिछले कई दिनों से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से आग्रह करते आ रहे है कि वे कोटा में फंसे बिहारी छात्रों को वापस लाने की व्यवस्था करें। पप्पू यादव के करीबी सूत्रों के मुताबिक, कोटा से बिहार तक आने के लिए एक बस का खर्चा एक लाख साठ हज़ार रुपये है। इस हिसाब से पप्पू यादव छात्रों को लाने के लिए 48 लाख रुपये खर्च कर रहे हैं। इसमें 20 लाख रुपये उन्होंने बस मालिकों को एडवांस भी दे दिए हैं।


बिहार के नए इलाकों में पांव पसारता कोरोना, 38 में से 29 जिलों में पहुंचा संक्रमण

बिहार : बाहर फंसे लोगों की घरवापसी का रास्ता साफ, सुमो ने प्रधानमंत्री को किया धन्यवाद

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)