कैरी मिनाती का ‘यूट्यूब vs टिकटॉक’ वीडियो यूट्यूब से हटाया गया, बिफरे फैंस ने लगाई न्याय की गुहार

कैरी मिनाती का 'यूट्यूब vs टिकटॉक' वीडियो यूट्यूब से हटाया गया, बिफरे फैंस ने लगाई न्याय की गुहार

कैरी मिनाती (Carry Minati) यानी अजय नागर करके एक यूट्यूबर हैं। डिजिटल युग के युवा उनके नाम और काम से अच्छी तरह वाक़िफ़ होंगे। पिछले दिनों उनका एक वीडियो Youtube vs Tiktok: The End आया था, जिसमें उन्होंने टिकटॉक स्टार आमिर सिद्दीकी को रोस्ट किया था। वीडियो ने इंटरनेट को हिला डाला था, जैसे भूकंप आए दिन दिल्ली-एनसीआर को हिला दे रही है। यह वीडियो काफी पॉपुलर हुआ और कई रेकॉर्ड्स ध्वस्त हो गए। बताया जा रहा है कि कैरी मिनाती का यह वीडियो भारत का सबसे अधिक लाइक किए जाने वाला वीडियो भी बन गया था।अब कैरी और उनका वीडियो फिर से सुर्ख़ियों में आ गया है। लेकिन इस बार वजह है- वीडियो का हटाया जाना।

दरअसल, यूट्यूब ने गाइडलाइंस के उल्लंघन का हवाला देते हुए कैरी मिनाती के ‘यूट्यूब vs टिकटॉक’ वीडियो को अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है। अब कैरी के वीडियो लिंक पर क्लिक करने पर ‘This video has been removed for violating Youtube’s policy on harassment and bullying’ मैसेज लिखा आता है। यानी कि ‘इस वीडियो को यूट्यूब की हैरेसमेंट और बुलइंग पॉलिसी के खिलाफ पाए जाने के कारण हटा दिया गया है।’


क्या है पूरा मामला?

लॉकडाउन में दूरदर्शन पर महाभारत शुरू हुआ। तो इंटरनेट कैसे पीछे रहता। यहां भी दो कम्युनिटीज ने एक महाभारत रचा लिया। इस धर्मयुद्ध का नाम रखा गया यूट्यूब vs टिकटॉक या यूट्यूबर्स vs टिकटॉकर्स। इसकी शुरुआत एक और रोस्टिंग यूट्यूबर एलविश यादव ने एक वीडियो के जरिए की थी। सबसे पहले एलविश यादव ने एक वीडियो अपलोड किया जिसमें उसने कुछ नामी टिकटॉकर्स को रोस्ट किया। इनमें लड़कियां भी शामिल थीं। उस रोस्ट के बाद कई लोगों ने एलविश यादव को गलत ठहराया। उसके बाद कई और लोगों को चस्का लगा और टिकटॉक कम्युनिटी को पकड़-पकड़कर रोस्ट किया जाने लगा।

मामले ने तब तूल पकड़ा जब एक नामी टिकटॉकर और टीम नवाब के आमिर सिद्दीकी ने एक आईजीटीवी वीडियो अपलोड किया और उसमें यूट्यूब और टिकटॉक के बीच कई बातों को लेकर तुलना की। इसमें उन्होंने कई ऐसे तथाकथित तथ्य रख दिए जो यूट्यूबर्स और उनके फैंस को रास नहीं आए। आमिर के वीडियो के बाद भारत में रोस्टिंग कल्चर लाने के लिए पहचाने जाने वाले कैरी ने अपना वीडियो निकाला। इस वीडियो में उन्होंने आमिर सिद्दीकी को रोस्ट किया।


इस वीडियो में कैरी ने गालियों का भी भरपूर इस्तेमाल किया। इस वीडियो को अपलोड करते वक्त कैरी मिनाती के चैनल पर 10.5 मिलियन के करीब फॉलोअर्स थे और चंद दिनों में दनादन बढ़ते हुए 16.5 मिलियन से भी ज्यादा हो गए हैं। इस वीडियो ने यूट्यूब पर कोहराम मचा दिया। वीडियो पर 60 मिलियन से अधिक व्यूज और 10 मिलियन से अधिक लाइक्स मिले। इसके साथ ही यह वीडियो भारत का सबसे अधिक लाइक किए जाने वाला वीडियो बन गया।

लेकिन, पिच्चर अभी बाकी थी। कैरी मिनाती के इस वीडियो के अपलोड होने के 5 दिन बाद यूट्यूब ने इसे यह कहकर हटा दिया कि वीडियो उसकी गाइडलाइंस के खिलाफ है। यूट्यूब ने केवल कैरी ही नहीं बल्कि बाकी रोस्टर्स एलविश यादव और लक्ष्य चौधरी के टिकटॉक रोस्ट वीडियो को भी अपने प्लैटफॉर्म से हटा दिया है। हालांकि कैरी मिनाती की ओर से इस पर कोई रिएक्शन सामने नहीं आया है, लेकिन उनके समर्थक इस फैसले से खुश नहीं हैं। सोशल मीडिया पर इसे लेकर लगातार रिएक्शन सामने आ रहे हैं। ट्विटर समेत कई सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर #JusticeForCarry ट्रेंड कर रहा है।

कौन है कैरी मिनाती?

कैरी मिनाती यूट्यूब चैनल चलाने वाले युवक का नाम अजय नागर है। 20 वर्षीय अजय नागर फरीदाबाद का रहने वाला है। कैरी शुरू से ही कई बड़े ऐक्टर्स की मिमिक्री करता रहा है। अपने इस पैशन के कारण उसने अपनी 12वीं की परीक्षा भी छोड़ दी थी। फिलहाल वह ओपन स्कूलिंग के जरिए पढ़ाई कर रहा है। 15 साल की उम्र में उसने अपना पहला यूट्यूब चैनल बनाया लेकिन वह ज्यादा नहीं चला।

उसके अंदर पल रहे क्रिएटिविटी के कीड़े ने हार नहीं मानी और उसने फिर एक नया यूट्यूब चैनल बनाया। इस पर वह कई बॉलीवुड स्टार्स की मिमिक्री करता था और इसका नाम ‘सनी देओल’ रखा और बाद में बदलकर ‘कैरी देओल’ कर दिया। वह चर्चा में तब आया जब उसने जानेमाने यूट्यूबर भुवन बाम को रोस्ट किया। इसके बाद उसके सब्सक्राइबर्स तेजी से बढ़े और वह भारत के जान-माने यूट्यूबर्स में एक बन गया।


#DholeraSmartCity ट्विटर पर क्यों हुआ ट्रेंड, लोगों ने क्यों कर दी मोदी सरकार की खिंचाई?

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)