बिजनौर लोकसभा सीट: मीरा कुमार और मायावती कर चुकी हैं जीत दर्ज, मौजूदा भाजपा सांसद को गठबंधन से मिल रही है मजबूत चुनौती

बिजनौर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र, उत्तर प्रदेश: वर्तमान सांसद, उम्मीदवार, मतदान तिथि और चुनाव परिणाम

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में उत्तर प्रदेश की 8 सीटों पर 11 अप्रैल को मतदान हुए। इन्हीं 8 सीटों में एक सीट बिजनौर भी है जहां मतदान सम्पन्न हुआ।

उत्तर प्रदेश के प्रथम चरण के चुनाव के दौरान 63.69 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। बिजनौर संसदीय क्षेत्र में 65.40 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।


उत्तर प्रदेश का बिजनौर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र एक बार फिर से नया सांसद चुनने के लिए तैयार है। 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार कुंवर भारतेंद्र सिंह ने 2 लाख से अधिक वोटों से जीत दर्ज की थी। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी शाहनवाज राना दूसरे और बहुजन समाज पार्टी के मलूक नागर तीसरे नंबर पर रहे थे। बॉलीवुड अदाकारा जयाप्रदा ने भी रालोद की टिकट पर यहां से चुनाव लड़ा था। 2019 के लोकसभा चुनाव की बात करें तो बिजनौर सीट पर बीजेपी ने मौजूदा सांसद कुंवर भारतेंद्र सिंह पर ही भरोसा जताया है। गठबंधन खेमे में यह सीट बसपा के हिस्से गयी है,जिसने मलूक नागर को उम्मीदवार बनाया है। वहीं कांग्रेस की ओर से नसीमुद्दीन सिद्दीकी मैदान में होंगे।

बिजनौर लोकसभा सीट पश्चिमी उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण सीटों में से एक है। इस सीट पर बसपा सुप्रीमो मायावती से लेकर लोक जनशक्ति पार्टी के राम विलास पासवान समेत कई राजनीतिक दिग्गज अपनी किस्मत आजमा चुके हैं। ऐतिहासिक दृष्टि से भी बिजनौर का बहुत महत्व है। नूर बिजनौरी जैसे मशहूर शायर इसी मिट्टी से पैदा हुए। महारनी विक्टोरिया के उस्ताद नवाब शाहमत अली भी मंडावर बिजनौर के निवासी थे, जिन्होंने महारानी को फारसी पढ़ाया। कण्व आश्रम, पारसनाथ का किला, मयूर ध्वज दुर्ग, हनुमान धाम यहां के प्रमुख दार्शनिक स्थल हैं। लखनऊ से बिजनौर की दूरी 442 किलोमीटर और दिल्ली से इसकी दूरी 190 किलोमीटर है।

बिजनौर में पहले चरण के अंतर्गत 11 अप्रैल को मतदान हुए। यहां मतदान का प्रतिशत 65.40 रहा।


बिजनौर लोकसभा क्षेत्र में कुल 5 विधानसभा सीटें आती हैं – इनमें दो बिजनौर जिले, दो मुजफ्फरनगर जिले और एक मेरठ जिले से आती है। ये सीटें पुरकाजी, मीरापुर, बिजनौर, चांदपुर और हस्तिनापुर हैं। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में सभी सीटें भारतीय जनता पार्टी के खाते में गई थीं। बिजनौर लोकसभा सीट पर कुल 15 लाख से अधिक वोटर हैं, जिनमें 848606 पुरुष और 713459 महिला वोटर हैं। 2014 में इस सीट पर 67.9 फीसदी वोट डाले गए थे, इनमें से 5775 वोट NOTA को गये थे। 2011 की जनगणना के अनुसार, बिजनौर में कुल 55.18 % हिंदू और 44.04% मुस्लिम लोग हैं।

बिजनौर लोकसभा सीट का इतिहास

मेरठ, नगीना, मुजफ्फरनगर जैसे शहरों से जुड़ी इस सीट पर शुरुआत में कांग्रेस का दबदबा रहा था। देश में हुए पहले चुनाव यानी 1952 से लेकर 1971 तक ये सीट कांग्रेस के खाते में ही रही। फिर इमरजेंसी के दौर के बाद लोगों का कांग्रेस से मोहभंग हुआ तो 1977 और 1980 में इस सीट पर जनता दल ने जीत हासिल की। हालांकि, एक बार फिर ये सीट कांग्रेस के पास गई। 1984 में गिरधारी लाल और 1985 उपचुनाव में पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार यहां से चुनाव जीती थीं। इस चुनाव में उनके खिलाफ रामविलास पासवान और मायावती मैदान में थे। साल 1989 में बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने जीत दर्ज की थी। उसके बाद हुए इस सीट पर कुल 7 चुनाव में चार बार भारतीय जनता पार्टी, दो बार राष्ट्रीय लोकदल और एक बार समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज की है।

2014 में भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश में प्रचंड जीत हासिल की, बिजनौर में भी ऐसा ही हुआ।ऐसे में भारतीय जनता पार्टी की नजर एक बार फिर इस लोकसभा सीट पर परचम लहराने की होगी। लेकिन, सपा-बसपा-रालोद गठबंधन की वजह से बीजेपी उम्मीदवार की राह कतई आसान नहीं होगी।

2014 लोकसभा चुनाव के नतीजे

कुंवर भारतेंद्र सिंह, भारतीय जनता पार्टी – 4,86,913

शाहनवाज राना, समाजवादी पार्टी – 2,81,136

मलूक नागर, बहुजन समाज पार्टी – 2,30,124

जयाप्रदा, राष्ट्रीय लोकदल – 23,348

2019 लोकसभा चुनाव के लिए प्रमुख उम्मीदवार

  • कुंवर भारतेंद्र सिंह, बीजेपी
  • मलूक नागर, बसपा
  • नसीमुद्दीन सिद्दीकी, कांग्रेस

पहले चरण के चुनाव लिए महत्वपूर्ण तिथियां

अधिसूचना  जारी 18 मार्च
नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 25 मार्च
नामांकन पत्र की जांच 26 मार्च
नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 28 मार्च
मतदान की तारीख 11 अप्रैल
मतगणना की तारीख 23 मई

देखें, यूपी में बीजेपी, कांग्रेस और सपा-बसपा गठबंंधन के उम्मीदवारों की पूरी लिस्ट

लोकसभा चुनाव 2019: पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को इन सीटों पर होगी वोटिंग, देखें राज्यवार सूची

 

(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)