गड्ढे भरने की समय सीमा नहीं तय की जा सकती : केशव

 प्रयाग, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि गड्ढे भरने की समय सीमा कभी तय नहीं की जा सकती है।

 प्रयागराज में दीवाली मनाने पहुंचे केशव ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा, “बरसात के दौरान सड़कों का खराब होना और उनमें गड्ढे होना स्वाभाविक प्रक्रिया है। इसे कोई भी रोक नहीं सकता। सड़कें तो बनती और बिगड़ती रहती हैं, इसलिए इनको दुरुस्त करने और गड्ढे भरने की डेडलाइन कभी भी तय नहीं की जा सकती।”


ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीडब्ल्यूडी की समीक्षा के दौरान 15 नवंबर तक सड़कों को दुरुस्त करने की डेडलाइन दी थी, जिसे मौर्य ने नकार दिया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि मानसून के अंतिम सत्र में प्रदेश में इस वर्ष भारी बरसात हुई है, जिसके कारण सड़कों में जगह-जगह पानी भर गया और भारी वाहनों के लगातार आवागमन से गड्ढे बनते रहे। बरसात के कारण इनको तत्काल दुरुस्त करना भी संभव नहीं है।

खराब सड़कों और सड़कों के गड्ढे भरने की सरकारी कवायद पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सड़कों को दुरुस्त करने का काम जारी है।


महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भाजपा के सह प्रभारी रहे मौर्य ने दावा किया है कि महाराष्ट्र में भाजपा व शिवसेना की ही सरकार बनेगी।

शिवसेना की धमकी पर मौर्य ने कहा, “शिवसेना को यह समझना चाहिए कि वह सहयोगी पार्टी है। यह चुनाव पूर्व का गठबंधन है और जनता ने गठबंधन को जनादेश भी दिया है। शिवसेना की यही भूमिका रहनी भी चाहिए।”

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर केशव ने लोगों से संयम बरतने की अपील की। उन्होंने कहा, “यह मामला अभी संविधान पीठ में है और जल्द ही फैसला आने वाला है। फैसला आने से पहले किसी को भी बेवजह की बयानबाजी से बचना चाहिए और अदालत के फैसले का सम्मान करना चाहिए।”

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)

You May Like