झारखंड: पलामू में गैंगस्टर कुणाल सिंह की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

झारखंड: पलामू में गैंगस्टर कुणाल सिंह की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या

झारखंड के पलामू जिले में एक गैंगस्टर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गयी। गैंगस्टर कुणाल सिंह को बुधवार सुबह-सुबह शहर थाना क्षेत्र के अघोर आश्रम रोड में गोली मारी गयी। बताया जा रहा है कि कुणाल सिंह अपनी कार में सवार होकर कहीं जा रहा था। इसी दौरान पहले अपराधियों ने कुणाल सिंह की कार को टक्कर मारी, फिर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। गोली कुणाल के सिर समेत शरीर के कई हिस्सों में लगी। गोलीबारी की घटना के बाद तत्काल घायल कुणाल को मेदिनीनगर के पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पलामू के पुलिस अधीक्षक अजय लिंडा घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, कुणाल सिंह सुदना स्थित अपने आवास से बिस्फुटा की ओर जा रहा था। इसी दौरान विपरीत दिशा से आ रही स्कॉर्पियो ने एक योजना के तहत उसकी कार को टक्कर मार दी। कार को टक्कर मारने के बाद मौका मिलते ही अपराधियों ने कुणाल सिंह को गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी वहां से फरार हो गये।


गौरतलब है कि आपराधिक गिरोह के सरगना और पूर्व आर्मी मैन कुणाल किशोर सिंह समेत चार अपराधियों को आर्म्स एक्ट के तहत सजा सुनायी गयी थी। आर्म्स एक्ट के छह साल पुराने मामले में निचली अदालत ने दोषी करार देते हुए 15 मार्च, 2018 को सात-सात साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी। कोर्ट ने सभी पर पांच-पांच हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था। जुर्माने की राशि नहीं देने पर सभी को तीन-तीन माह की अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतने का कोर्ट ने आदेश दिया था। इसी मामले में कुणाल फिलहाल जमानत पर था।

इसके अलावा आजसू पार्टी के नेता साजिद अहमद सिद्दीकी उर्फ बॉबी खान की हत्या में भी कुणाल सिंह की संलिप्तता सामने आयी। इसके बाद कुणाल ने अपने साथियों के साथ राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता ज्ञानचंद पांडेय के पोते अभिनव पांडेय का अपहरण कर लिया था। इसके बाद कुणाल को रांची स्थित आर्मी कैंप से गिरफ्तार किया गया था।


(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)