खुद को ‘स्टार’ नहीं, बल्कि ‘कलाकार’ कहना पसंद करते हैं दिलजीत दोसांझ

  • Follow Newsd Hindi On  
खुद को 'स्टार' नहीं, बल्कि 'कलाकार' कहना पसंद करते हैं दिलजीत दोसांझ

नई दिल्ली। साल 2016 में दिलजीत ने ‘उड़ता पंजाब’ से बॉलीवुड में एक्टिंग के क्षेत्र में कदम रखा और उसके बाद से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

अपनी बहुमुखी प्रतिभा के लिए जाने जाने वाले पंजाबी अभिनेता-गायक दिलजीत दोसांझ का कहना है कि वह अभी भी इस बात को नहीं मानते हैं कि वह एक स्टार हैं और खुद को सिर्फ एक ‘कलाकार’ कहना ही ज्यादा पसंद करते हैं।


‘उड़ता पंजाब’, ‘फिल्लौरी’ और ‘सूरमा’ में अपने किरदारों के साथ-साथ दिलजीत के गानों ने उन्हें पहचान दिलाई। आज ट्विटर पर उन्हें 36 लाख लोग फॉलो करते हैं और इंस्टाग्राम पर उनके 76 लाख फॉलोअर्स हैं।

इसे देखते हुए क्या उन्हें कभी स्टार जैसा महसूस हुआ? इस पर दिलजीत ने आईएएनएस को बताया, “मैं पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री में खुद को एक स्टार नहीं मानता। मैं स्टारडम में यकीन नहीं करता हूं। मैं एक कलाकार हूं और उसी तरह से काम कर रहा हूं।”

बॉलीवुड में अपने तीन साल के इस सफर को दिलजीत बेहतर मानते हैं और उन्हें आने वाले समय का इंतजार है।


उन्होंने कहा, “यह एक अच्छा सफर रहा है। मैंने इंडस्ट्री में करीब तीन साल बिताए हैं। यह काफी मजेदार रहा। मुझे अच्छे काम मिल रहे हैं। चलिए देखते हैं कि आज से पांच साल बाद मैं खुद को कहां पाता हूं।”

पगड़ी वाले किरदारों को बॉलीवुड में हमेशा ही टाइपकास्ट किया गया है, लेकिन दिलजीत जो कि एक सिख हैं, ने पहले कहा है कि मुख्यधारा की हिंदी फिल्मों में अपने समुदाय का प्रतिनिधित्व करने में वह सम्मानित महसूस करते हैं। दिलजीत ने इस बात पर जोर देकर कहा कि अब हिंदी फिल्मों में पगड़ी वाले किरदारों को टाइपकास्ट नहीं किया जाता है।

दिलजीत ने कहा, “ऐसा पहले जरूर होता होगा, लेकिन मुझे कभी नहीं लगा कि मुझसे अगल तरह का बर्ताव किया जा रहा है। मुझे कभी नहीं लगा कि मुझे टाइपकास्ट किया गया है। मैंने हर तरह की फिल्में की है – ‘फिल्लौरी’, ‘उड़ता पंजाब’, ‘सूरमा’, ‘अर्जुन पटियाला’ और ‘गुड न्यूज।’ मुझे नहीं पता कि पहले इस तरह की चीजें क्यों होती थी, लेकिन भगवान का शुक्र है कि अब ऐसा नहीं है।

दिलजीत ने साल 2011 में ‘लायन्स ऑफ पंजाब’ से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने कई हिट फिल्में दी जैसे कि ‘जाट एंड जूलिएट’, ‘जाट एंड जूलिएट 2’, ‘पंजाब 1984’, ‘सरदार जी’, ‘अम्बरसरिया’, ‘सरदार जी 2’, ‘सुपर सिंह’, ‘सूरमा’, ‘सज्जन सिंह’, ‘रंगरूट’ और ‘शदा।’

दिलजीत को पंजाबी फिल्मों का राजा कहा जाता है, लेकिन दिलजीत खुद को एक गायक के रूप में संदर्भित करना ज्यादा पसंद करते हैं।

दिलजीत की नई फिल्म ‘अर्जुन पटियाला’ 26 जुलाई को रिलीज हो रही है। इस फिल्म में उनके साथ कृति सैनन और वरुण शर्मा भी हैं।

(इस खबर को न्यूज्ड टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
(आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर फ़ॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब भी कर सकते हैं.)